कोरोना ने दी राहत तो हवा के साथ उड़कर आई आफत

जयपुर। नागौर जिले में कोरोना महामारी से थोड़ी राहत मिलने लगी तो तीन दिन पहले सर्वभक्षी कीट टिड्डी के रूप में नई आफत आ गई। कृषि विशेषज्ञों की मानें तो पिछले तीन दिन में करीब 50 करोड़ टिड्डी जिले में प्रवेश कर चुकी है। रविवार तक जोधपुर के रास्ते कुल छह दल जिले में प्रवेश कर गए।

By: ajay Sharma

Published: 10 May 2020, 10:37 PM IST

जयपुर। नागौर जिले में कोरोना महामारी से थोड़ी राहत मिलने लगी तो तीन दिन पहले सर्वभक्षी कीट टिड्डी के रूप में नई आफत आ गई। कृषि विशेषज्ञों की मानें तो पिछले तीन दिन में करीब 50 करोड़ टिड्डी जिले में प्रवेश कर चुकी है। रविवार तक जोधपुर के रास्ते कुल छह दल जिले में प्रवेश कर गए। रविवार को एक नया दल मूण्डवा तहसील क्षेत्र के संखवास व आसपास के गांवों के पास पहुंचा। एक से दो वर्ग किलोमीटर में चलने वाले एक दल में करीब 8 करोड़ टिड्डी होती है। हालांकि कृषि विभाग व टिड्डी विभाग की टीमें ग्रामीणों के साथ मिलकर दिन में टिड्डी दलों की ट्रेकिंग करने के साथ रात को कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण का प्रयास कर रही हैं, लेकिन टिड्डी की संख्या अधिक होने के कारण विभागीय इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं।रविवार को जिले की मकराना तहसील के देवरी व डोडवाड़ी गांवों में फैले टिड्डी दल व मेड़ता तहसील के गगराना में टिड्डी दल पर लेमडा 5 प्रतिशत, क्लारोपायरीपॉस 50 प्रतिशत ईसी व मेलाथियान का छिड़काव कर टिड्डी को मारा।
नियंत्रण के प्रयास जारी
जिले में टिड्डी दल के आने की सूचना मिलते ही कृषि विभाग की स्थानीय टीमें सक्रिय हो गई हैं। लगातार फील्ड में किसानों व टिड्डी विभाग के साथ मिलकर कार्य किया जा रहा है। शीघ्र ही टिड्डी को समाप्त करने के लिए कीटनाशकों का छिड़काव करवाया जा रहा है।
- प्रमोद कुमार, संयुक्त निदेशक, कृषि विभाग खंड, सीकर

Corona virus
ajay Sharma Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned