साथी की हत्या कर शव को भरतपुर में नाले में पटका

गेस्ट हाउस पर फायरिंग करने वाले पांच बदमाश गिरफ्तार

By: Lalit Tiwari

Published: 14 Apr 2021, 11:57 PM IST

प्रताप नगर थाना पुलिस ने गेस्ट हाउस पर फायरिंग कर रंगदारी के लिए कॉल कर धमकाने वाले पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया हैं। इन बदमाशों ने एक अपने साथी की हत्या भी की थी। हत्या करने के बाद उसकी लाश को भरतपुर में ले जाकर एक नाले में फेंक दिया था। पूछताछ के दौरान हत्या का भी खुलासा हुआ। पुलिस पूछताछ में बदमाशों ने जयपुर शहर में एक दर्जन से अधिक नकबजनी और लूट की वारदातों को अंजाम दिया हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से एक देशी पिस्टल दो देशी कट्टे सहित 61 कारतूस और चोरी की स्कूटी बरामद की हैं। हत्या की रिपोर्ट परिजनों ने रामनगरिया थाने में दर्ज करवाई थी।
डीसीपी (पूर्व) अभिजीत सिंह ने बताया कि 11 अप्रेल की रात को चन्द्र गेस्ट हाउस संचालक दीपक शर्मा के मोबाइल पर फोन आया कि आजकल ज्यादा पैसे कमा रहे हो, कुछ हमें भी भिजवा दो। थोड़ी देर बाद मैनेजर से मालूम हुआ कि गेस्ट हाउस पर स्कूटी सवार दो बदमाश फायरिंग करके चले गए। कुछ समय बाद फिर बदमाशों ने फोन किया कि यह तो ट्रेलर है पिक्चर अभी बाकी हैं। इस पर पुलिस ने एडिशनल डीसीपी अशोक चौहान, एसीपी नेमीचंद खारिया के नेतृत्व में टीम गठित की। टीम ने दीपक के मोबाइल पर आए नम्बरों को खंगालना शुरु किया। हैड कांस्टेबर प्रधुम्न ने मोबाइल नम्बरों की सीडीआर निकालकर उसका विश्लेषण कर ट्रेस आउट कर लिया। इसके बाद उन्हें पकड़ लिया गया।
यह हुए गिरफ्तार
एडिशनल डीसीपी अशोक चौहान ने बताया कि रंगदारी मांगने वाले रूपेश भारद्वाज (१९) गोपालगढ़ मथुरा गेट भरतपुर हाल सेक्टर-१८ प्रताप नगर, अजय उर्फ बंटी (१९) गुनसारा कुम्हेर भरतपुर हाल किराएदार प्रिंस नगर कॉलोनी होटल ओम कॉम्पलेक्स के सामने नितिन अस्पताल के पास मथुरा गेट भरतपुर, सुशांत दंतात्रेय उर्फ सतीश कुमार (२४) पार सेवर भरतपुर हाल कृष्णा एन्कलेव अपार्टमेन्ट ग्राउण्ड फ्लोर जी-२ नीयर ज्ञान विहार रामनगरिया, सतीश कुमार जाट (२४) भालोठ बुहाना पचेरी झुंझुंनू हाल चन्द्र गेस्ट हाउस टोंक रोड और पंकज (२१) उनोड़ा राया मथुरा उत्तर प्रदेश हाल अजीत नगर नीयर सारस होटल गैस गोदाम वाली गली मथुरा गेट भरतपुर को पकड़ लिया।


साथी को ही मार डाला-
मुख्य सरगना सुशांत दंतात्रोय ने कबूल किया कि मेरे बचपन का दोस्त कुशलपाल उर्फ कौशल निवासी डेहरा बोहरा कुम्हेर भरतपुर अपराधी था, इसलिए मैं उससे डरता था। घटना से कुछ दिन पहले मेरे पास उसका फोन आया कि मैं जयपुर में तेरे पास ही रहूंगा, कोई बड़ा काम मिलकर करेंगे। कुशलपाल जयपुर आ गया और साथ रहने लगा। इस दौरान उसने किसी बड़े आसामी से पैसे लूटने की प्लानिंग की। कुशलपाल मुझसे रोज रुपए लेता था। मैं बहुत परेशान हो चुका था, उसे रास्ते से हटाने के लिए मेरे दोस्त रूपेश व अजय उर्फ बन्टी के साथ मिलकर मैंने प्लान बनाया। ४-५ दिन पहले रामनगरिया स्थित किराए के फ्लैट पर रूपेश-अजय के साथ मिलकर कुशलपाल का मर्डर कर दिया। उसकी बॉडी को दोस्तों ने मेरी गाड़ी में डालकर भरतपुर ले जाकर नाले में डाल दिया था।


साथी को भेजकर सरगना ने करवाई थी फायरिंग
मर्डर के बाद हम सभी १० अप्रैल को चन्द्र गेस्ट हाउस इण्डिया गेट टोंक रोड में निवास करने वाले सतीश से मिलकर गेस्ट हाउस संचालक दीपक शर्मा को धमकाकर ५० लाख रुपए रंगदारी की साजिश रची। ११ अप्रैल की रात को सुशांत ने अपने साथी रूपेश व अजय उर्फ बंटी को सतीश कुमार के बताए अनुसार चन्द्र गेस्ट हाउस पर भेजकर फायरिंग करवाई, फिर फोन कर रुपयों की मांग की। सुशांत खुद आईटी कम्पनी में काम करता है और खुद की ५० हजार प्रतिमाह की सैलेरी बताता है। वहीं अन्य आरोपी भी अभी पढ़ाई कर रहे हैं।

इनकी रही अहम भूमिका
इस कार्रवाई में शंकरलाल पुलिस थाना प्रताप नगर, कांस्टेबल लोकेन्द्र सिंह, और हैड कांस्टेबल प्रधुम्न सिंह की अहम भूमिका रही हैं।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned