200 किसानोंं की राह आसान

किसानों को मिले मृदा स्वास्थ्य कार्ड, विश्व मृदा दिवस पर किसान सम्मेलन का आयोजन

By:

Published: 05 Dec 2015, 11:58 PM IST

जिले के 200 किसानों के लिए अब खेती की राह आसान हो गई है। इन किसानों को भलिभांति ज्ञात रहेगा कि उन्नत फसल के लिए जमीन पर कितना पोषक तत्व देना है। इसके लिए विभाग की ओर से किसान के खेतों की मिट्टी की जांच कर एक रिपोर्ट कार्ड बनवाया गया है। इसके द्वारा किसान की भूमि में लवणों की सही जानकारी दी गई है। किसानों को यह कार्ड विश्व मृदा दिवस और किसान सम्मेलन के मौके पर वितरित किए गए।
साथ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सांसद मानशंकर निनामा ने किसानों को बेहतर खेती करने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान कृषि अनुसंधान केंद्र के संभागीय आयुक्त डॉ. प्रमोद रोकडि़या, कृषि विज्ञान केंद्र के आरएल सोनी, भारतीय मक्का अनुसंधान संस्थान के डॉ. एसएल जाट, डॉ. दिलीप सिंह, डॉ. एसएस शर्मा, गढ़ी प्रधान लक्ष्मण लाल और घाटोल प्रधान हरेंद्र निनामा, भारतीय किसान संघ के रणछोड़ पाटीदार सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।
समस्या के साथ समाधान भी
मृदा कार्ड पहले भी किसानों के लिए बनाए जाते थे। लेकिन उन कार्ड में मिट्टी में जो पोषक तत्व कम हैं, उसकेबारे में जानकारी दी जाती थी। वर्तमान में जो कार्ड बनाए जा रहे हैं, उन्हें मृदा स्वास्थ्य कार्ड नाम दिया गया है। इन कार्ड में किसानों को जमीन पोषक तत्वों की कमी के साथ उसमें कितना यूरिया व अन्य साम्री डालनी है बताया जाएगा। ताकि किसान को सहूलियत हो और वह उन्नत फसल कर सके। अभी तकरबीन 100 किसानों के मृदा कार्ड बनाने का कार्य हो रहा है।
रात में सिंचाई करें
समारोह के दौरान वक्ताओं ने जिले में बेहतर फसल के लिए कई तरह के सुझाव दिए। किसानों को बताया गया कि माही के पानी का उचित उपयोग करने के लिए रात में भी सिंचाई करें।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned