gas distribution: शहरी गैस वितरण से वायु प्रदूषण होगा कम

राज्य सरकार पाइप लाइन के माध्यम से गैस आपूर्ति ( gas supply ) व्यवस्था के लिए आधारभूत संरचना व वितरण कार्य में लगी कंपनियों के साथ प्रभावी मोनेटरिंग व समन्वय स्थापित करेगी। इस समय राज्य के 19 जिलों में अलग-अलग कंपनियां इस कार्य को कर रही है। राजस्थान स्टेट गैस लिमिटेड ( Rajasthan State Gas Limited ) कोटा के साथ ही मध्यप्रदेश के ग्वालियर व श्योपुर में शहरी गैस वितरण नेटवर्क विकसित करने में जुटी है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 12 Jan 2021, 09:16 AM IST

जयपुर। राज्य सरकार पाइप लाइन के माध्यम से गैस आपूर्ति व्यवस्था के लिए आधारभूत संरचना व वितरण कार्य में लगी कंपनियों के साथ प्रभावी मोनेटरिंग व समन्वय स्थापित करेगी। इस समय राज्य के 19 जिलों में अलग-अलग कंपनियां इस कार्य को कर रही है। राजस्थान स्टेट गैस लिमिटेड कोटा के साथ ही मध्यप्रदेश के ग्वालियर व श्योपुर में शहरी गैस वितरण नेटवर्क विकसित करने में जुटी है।
प्रमुख शासन सचिव माइंस व राजस्थान स्टेट गैस के चेयरमेन अजिताभ शर्मा ने बताया कि पीएनजी और सीएनजी वितरण नेटवर्क विकसित होने से लागत में कमी व निर्बाध गैस आपूर्ति संभव होने के साथ ही वायु प्रदूषण को भी कम किया जा सकेगा। प्रदेश में इस कार्य को गति देने के लिए जल्दी ही राज्य स्तर पर सभी कंपनियों की बैठक आयोजित कर उनके कार्य की प्रगति के साथ ही समय-सीमा में कार्य पूरा करने पर बल दिया जाएगा।
शहरों में प्राकृतिक गैस के पाइप लाइन के माध्यम से वितरण के लिए आधारभूत ढांचा तैयार करने के लिए केन्द्र सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड द्वारा प्रदेश के 19 जिलों के लिए विभिन्न कंपनियों को अधिकृत किया गया है। राज्य में अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तोडगढ़, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, जैसलमेर, जालौर, जोधपुर, कोटा, पाली, राजसमंद, सिरोही और उदयपुर में अलग-अलग कंपनियां यह कार्य कर रही है।
आरएसजीएल के एमडी मोहन सिंह ने बताया कि आरएसजीएल द्वारा अलवर के निमराना में मदर स्टेशन से उद्योगों व वाहनों को और जयपुर के कूकस में डॉटर बूस्टर स्टेशन स्थापित कर वाहनों को सीएनजी उपलब्ध कराई जा रही है। आरएसजीएल द्वारा मध्यप्रदेश के ग्वालियर और श्योपुर में भी शहरी गैस वितरण व्यवस्था का नेटवर्क विकसित करने का काम जारी है। दोनों ही स्थानों पर एक-एक सीएनजी स्टेशन की स्थापना की जा चुकी है।
आरएसजीएल द्वारा कोटा शहर में युद्धस्तर पर शहरी गैस वितरण व्यवस्था पर कार्य करते हुए कोटा शहर में 7 सीएनजी स्टेशनों की स्थापना कर 14 हजार 500 घरों तक पाइपलाइन से घरेलू गैस के कनेक्शन जारी कर दिए गए है। राज्य में गैल द्वारा करीब 600 किलोमीटर गैस लाइन डाली हुई है वहीं भिवाड़ी-नीमराना आदि में उद्योगों को पीएनजी-सीएनजी गैस की आपूर्ति की जा रही है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned