दो दोस्तों के एक साथ निकले जनाजे को देखकर हर की आंख भर आई

अजमेर सड़क हादसे में जान गंवाने वाले दो दोस्त सोहेल और मोईन का शव शुक्रवार दोपहर करीब 1:30 बजे उनके घर पहुंचा।

By: kamlesh

Published: 12 Feb 2021, 09:03 PM IST

जयपुर। अजमेर सड़क हादसे में जान गंवाने वाले दो दोस्त सोहेल और मोईन का शव शुक्रवार दोपहर करीब 1:30 बजे उनके घर पहुंचा। दोनों जयपुर से चार दिन पहले एक साथ ख्वाजा साहब की दरगाह में जियारत करने के लिए पैदल रवाना हुए थे। दोनों लौटे तो एक साथ लेकिन शव रूप में एक एंबुलेंस में। पहले सोहेल का शव उसके घर पर उतारा गया और उसके बाद में मोईन शव उसके घर पर पहुंचा। दोपहर को जुमे की नमाज के बाद में घाटगेट इलाके की एक मस्जिद में दोनों ही दोस्तों की नमाजे जनाजा एक साथ पड़ी गई, इसके बाद वही दोनों का जनाजा भी एक साथ उठाया गया।

सोहेल और मोईन की मौत की खबर शुक्रवार सुबह लोगों को मिली। इसके बाद लोग जमा होने लगे थे। जैसे ही दोनों के शव उनके घर पहुंचे और जनाजा उठा। लोगों की इतनी भीड़ जमा हो गई कि गलियां भी तंग पड़ गई। हर कोई गमगीन आंखों से दोनों के बारे में बात कर रहा था। घाट गेट कब्रिस्तान में दोनों को पास पास ही गमगीन माहौल में सुपुर्द ए खाक किया गया। कब्रिस्तान में उनको सुपुर्द करने के बाद में खास दुआ का भी आयोजन हुआ।

गौरतलब है कि ख्वाजा साहब के सालाना उर्स में शरीक होने पैदल आ रहे जायरीन को तेज रफ्तार कार ने गेगल पुलिया पर कुचल दिया। हादसे में तीन जायरीन की मौत हो गई जबकि एक गंभीर घायल हो गया। हादसे में जयपुर चौमूं जोगियों का मौहल्ला निवासी सलमान उर्फ मुन्ना, जयपुर घाटगेट निवासी मोहम्मद मोईन व घाटगेट काजियों का मौहल्ला निवासी मोहम्मद सोहेल की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि हटवाड़ा मेहनत नगर निवासी शहजाद गंभीर रूप से घायल हो गया। सोहेल और मोईन का शव अजमेर में पोस्टमार्टम के बाद शुक्रवार को जयपुर पहुंचे।

निगम लापरवाही पर नाराजगी
सोहेल और मोईन की नमाजे जनाजा जब जा रहा था उसमें शामिल लोगों को सीवरेज के गंदें पानी गुजरना पड़ा। इसी के साथ गंदगी के अंबार भी लगे हुए नजर आए। इस पर लोगों ने नाराजगी जाहिर की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned