कांगो बुखार को लेकर अलर्ट मोड पर स्वास्थ्य महकमा, प्रभावित क्षेत्रों में किया जा रहा है घर-घर सर्वे

राजस्थान में कांगो फीवर ( Congo fever ) के प्रकोप को देखते हुए सरकार भी अलर्ट हो गई है। इस मामले में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ( Rajasthan Health Minister Raghu Sharma ) ने बताया कि चिकित्सा विभाग कांगो फीवर के प्रति पूरी तरह सजग है और इस बारे में प्रदेशभर के चिकित्साधिकारियों ( Medical and health department ) को दिशा-निर्देश भी दिए जा चुके हैं।

By: abdul bari

Updated: 11 Sep 2019, 08:07 PM IST

जयपुर
राजस्थान में कांगो फीवर ( Congo fever ) के प्रकोप को देखते हुए सरकार भी अलर्ट हो गई है। इस मामले में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ( Rajasthan Health Minister Raghu Sharma ) ने बताया कि चिकित्सा विभाग कांगो फीवर के प्रति पूरी तरह सजग है और इस बारे में प्रदेशभर के चिकित्साधिकारियों ( Medical and health department ) को दिशा-निर्देश भी दिए जा चुके हैं।

टीमें बनाकर प्रभावित क्षेत्रों में घर-घर सर्वे

मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि कि कांगो फीवर ( Congo hemorrhagic fever virus ) की जांच के लिए कुल 136 लोगों के सेम्पल लिए गए, जिनमें से पॉजिटिव पाए गए दो व्यक्ति इन्द्रा पत्नी श्री हरसुखराम निवासी बोरून्दा, जोधपुर व श्री लोकेश पुत्र भूटाराम, पंचायत हतार, जैसलमेर की मौत हो गई है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिकित्सा विभाग के नेतृत्व में टीमें बनाकर प्रभावित क्षेत्रों में घर-घर में सर्वे किया जा रहा है। सर्वे करने वाली टीम को टिक्स से बचाव के लिए ऑडोमॉस भी दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि पशुपालन से समन्वय कर पशुओं व बाड़ों पर साइपरमेथ्रिन का स्प्रे करवाया गया। इसके अलावा जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में पशुपालन व नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक भी करवाई गई।

14 दिन तक मॉनिटरिंग की जाएगी

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि सैम्पल कलेक्शन के लिए स्टाफ को प्रशिक्षित किया गया तथा जोधपुर संभाग के सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियो, मेडिकल कॉलेज एवं एम्स के चिकित्सा अधिकारियों व जोधपुर जिले के सभी चिकित्साधिकारियों को आमुखीकरण किया जा चुका है। साथ ही 9 सितम्बर को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से भी अधिकारियों को पूर्ण रूप से सजग रहने और तुरंत एक्शन लेने के भी दिशा-निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि पॉजिटिव पाए गए रोगियों के सम्पर्क के आने वाले व्यक्तियों की 14 दिन तक मॉनिटरिंग की जाएगी, इनके सैम्पल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे जा रहे हैं।

यह हैं इस रोग के लक्षण ( congo fever symptoms in hindi )


गौरतलब है कि कांगो क्रिमिएन हिमरेजिक फीवर में मनुष्य को वायरस जनित इनफेक्टेड टीक काट लेता है तो यह रोग होता है। इसके कारण तेज बुखार, सिर दर्द, उल्टी, दस्त, बदन दर्द, गर्दन का अकड़न इत्यादि लक्षण होते हैं।

Show More
abdul bari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned