किसान 14 अक्टूबर को मनाएंगे एसएमपी दिवस


कृषि संबंधी बिलों का होगा विरोध
26 और 27 नवंबर को दिल्ली चलो किसान आंदोलन

By: Rakhi Hajela

Published: 30 Sep 2020, 05:49 PM IST


अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने कृषि संबंधी तीन बिलों के विरोध में अपने आंदोलन के अगले चरण का एलान कर दिया है। समिति के डॉ. संजय माधव ने बताया कि 14 अक्टूबर को किसान एसएमपी दिवस के रूप में मनाएंगे जहां केंद्र सरकार के झूठे प्रचार का विरोध किया जाएगा। इससे पूर्व 2 अक्टूबर को किसान संकल्प लेंगे कि वह हम उन राजनीतिक नेताओं और जनप्रतिनिधियों का सामाजिक बहिष्कार करेंगे जिनकी पार्टियों ने इन काले कृषि कानूनों का विरोध नहीं किया है।साथ ही गांवों में किसानों और अन्य पीडि़त वर्गों की बैठक कर केंद्र सरकार की ओर से लाए गए काले कानून के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया जाएगा। डॉ. माधव ने कहा है कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति देश के सभी किसानों का आह्वान करती है कि वे 26 और 27 नवंबर को दिल्ली चलो नारे को सफल करे। इस अभियान में ज्यादा से ज्यादा किसानों की भागीदारी हो ताकि केन्द्र सरकार को मजबूर किया जाए कि कृषि संबंधी इन काले कानूनों को वापस ले जो किसानों की जिन्दगी पर अमानवीय हमला कर उनका भविष्य बर्बाद करने वाले हैं। उनका कहना था कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति नेतब तक चैन से नहीं बैठने और आंदोलन करने का निर्णय लिया है, जब तक देश के किसान इस संघर्ष में जीत हासिल नहीं कर लेते हैं।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned