टैक्सटाइल पार्कों की हर महीने मॉनिटरिंग

टैक्सटाइल पार्कों की हर महीने मॉनिटरिंग
टैक्सटाइल पार्कों की हर महीने मॉनिटरिंग

chandra shekar pareek | Updated: 11 Sep 2019, 06:01:20 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

राज्य के औद्योगिक परिदृश्य में सुधार की प्रक्रिया को तेज करते हुए अब सरकार ने टैक्सटाइल की ओर अपना ध्यान केंद्रित किया है। राज्य के चारों टैक्सटाइल पार्कोँ की अब हर महीने मॉनिटरिंग की जाएगी।

उद्योग आयुक्त डॉ. कृष्णा कांत पाठक ने कहा है कि राज्य के चारों एकीकृत टैक्सटाईल पार्कों की प्रदेश के टैक्सटाईल उद्योग के संवद्र्धन और विस्तारीकरण में भागीदारी तय की जाएगी।
इन पार्कों की हुई समीक्षा
आयुक्त डॉ. पाठक बुधवार को जयपुर में जयपुर के बगरू, अजमेर के सिलोरा किशनगढ़ और पाली के टैक्सटाइल पार्कों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।
केंद्र की सहायता से बने हैं पार्क
उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार के वित्तीय सहयोग से बनाए गए चारों पार्कों का संचालन एसपीवी के माध्यम से हो रहा है। जयपुर के बगरु में जयपुर इंटीग्रेटेड टैक्स क्राफ्ट पार्क में 16 डाइंग व 4 गारमेंट इकाइयों में से 16 इकाइयों द्वारा उत्पादन किया जा रहा है वहीं चार इकाइयां जल्दी ही अपने कार्य शुरु कर दिए जाएंगे। यहां सीईटीपी से लगने से प्रदूषित पानी की भी समस्या नहीं है।
कहां कितनी प्रगति हुई
डॉ. पाठक ने बताया कि अजमेर के सिलोरा में जयपुर टैक्स वीविंग पार्क में 2 सेड्स का निर्माण हो चुका है। यहां साइजिंग, वीविंग और गारमेंट या मेडअप की इकाइयां लग रही है। उन्होंने यहां की एसपीवी को अपने कार्यों में गति लाने के निर्देश दिए। अजमेर के ही किशनगढ़ हाईटेक टैक्सटाईल पार्क में 15 इकाइयां है। उन्होंने बताया कि पाली के नेस्टजेन टैक्सटाईल पार्क में 21 इकाइयोंं में उत्पादन होने लगा है। पांच इकाइयों का कार्य प्रगति पर है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned