Smartcity project : किसने रोका Jaipur का 'Pure Water'

Pawan kumar | Updated: 11 Oct 2019, 12:28:16 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट (Smartcity Project) : फाइलों में अटक गया शुद्ध जल (Pure water)

'प्लान-2020' (Plan 2020) का काम ही नहीं हुआ शुरू
जयपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड नहीं तय कर पाया 50.68 करोड़ की योजना का खाका

स्मार्ट सिटी बन रहे गुलाबी नगर जयपुर (Pinkcity Jaipur) में 3 साल पहले 24 घंटे शुद्ध पेयजल सप्लाई का सपना (Dream) दिखाया गया। लेकिन जयपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड अब तक 50.68 करोड़ की योजना पर काम ही शुरू नहीं कर पाया है। किशनपोल बाजार के लोगों को 24 घंटे शुद्ध जल मुहैया करवाने की योजना अब तक फाइलों (Files) में ही अटकी है।

2020 में मिलना था 24 घंटे पानी
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि पुरा धरोहर को सहेजकर रखने वाले गुलाबी नगर के चारदीवारी इलाके को वर्ष 2020 में 24 घंटे पेयजल सप्लाई मिलना शुरू हो जाएगी। इसके लिए केन्द्र सरकार की अमृत योजना के तहत 50.68 करोड़ की योजना स्वीकृत की गई है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के एरिया बेस्ड डवलपमेंट वाले हिस्से में इसके लिए काम शुरू होना था। प्रोजेक्ट को पूरा करने में डेढ़ से 2 साल का वक्त लगने की संभावना है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए अभी प्रोजेक्ट का काम शुरू होने में ही महीनों लग जाएंगे। ऐसे में 2020 तक शुद्ध पेयजल प्रोजेक्ट पूरा होने की उम्मीद कम ही दिखती है।

37,248 मीटर पाइपलाइन बिछेगी
जानकारी के अनुसार स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में किशनपोल बाजार के करीब ढाई वर्ग किमी इलाके को एरिया बेस्ड डवलपमेंट के लिए चुना गया है। अमृत योजना के तहत किशनपोल और हवामहल विधानसभा क्षेत्र के चयनित क्षेत्र में 37,248 मीटर पाईपलाइन बिछाई जाएगी। इस पाइपलाइन के माध्यम से स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के हिस्से वाले इलाके को 24 घंटे पेयजल सप्लाई होगी। यह प्रोजेक्ट अगले साल वर्ष 2020 तक पूरा करने का दावा है।


चारदीवारी के लिए 'प्लान—2025'
केन्द्र सरकार की अमृत योजना से पूरे चारदीवारी इलाके को 24 घंटे पेयजल सप्लाई दी जाएगी। पूरे परकोटा को 24 घंटे पेयजल सप्लाई की योजना 7 साल में पूरी होगी। यानी चारदीवारी इलाके में रहने वाले सभी लोगों को 2025 में 24 घंटे पानी उपलब्ध होगा। परकोटा में 24 घंटे पेयजल योजना आपरेट एंड मेंटिनेंस यानी ओ एंड एम आधार पर आगे बढ़ेगी।


स्काडा सिस्टम से जुड़ेंगे 110 पम्पिंग स्टेशन
परियोजना के तहत राजधानी जयपुर के सभी 110 वॉटर पम्पिंग स्टेशन केन्द्रीयकृत स्काडा सिस्टम से जुड़ेंगे। 10 ऐसे पम्पिंग स्टेशन जहां पर बिजली की खपत ज्यादा हैं, उन्हें रामनिवास बाग, अमानीशाह और बालावाला में रिप्लेस किया जाएगा। इस योजना में केन्द्रीयकृत स्काडा सिस्टम के जरिए सभी पम्पिंग स्टेशनों से सप्लाई होने वाले पेयजल की मॉनिटरिंग की जाएगी। इस सिस्टम ये पता लग पाएगा कि कौन से पम्पिंग स्टेशन से कितना पानी सप्लाई हो रहा है।

स्मार्ट मीटर से होगी पानी की मॉनिटरिंग
राजधानी जयपुर के नेहरू नगर, सुभाष नगर, विद्याधर नगर, गांधी नगर, बापू नगर और तिलक नगर सहित दर्जनभर इलाके ऐसे हैं, जहां पर पानी की खपत ज्यादा है। इसे देखते हुए इन इलाकों में 68,515 स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। इससे पानी के उपभोग की सही मात्रा का पता लग सकेगी। साथ ही स्मार्ट मीटर लगने से पानी की चोरी करना मुश्किल हो जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned