कोचिंग संस्थानों की आंदोलन की घोषणा

कोचिंग संस्थानों की आंदोलन की घोषणा

By: Rakhi Hajela

Published: 12 Jul 2021, 12:46 AM IST



जयपुर, 11 जुलाई
कोरोना ग्राफ के लगातार कम होने के बावजूद कोचिंग कक्षाएं (Coaching classes) संचालित नहीं करने की अनुमति नहीं देने का संचालकों ने विरोध करते हुए आंदोलन की घोषणा की है। ऑल कोचिंग इंस्टीटयूट महासंघ (Federation of All Coaching Institutes) की ओर से रविवार को जयपुर के सागांनेर स्थित पिंजरापोल गौशाला में कोचिंग संचालकों की बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में कोचिंग संस्थान, लाइब्रेरी खोलने की मांग की गई। ऑल कोचिंग इंस्टीट्यूट महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष अनीष कुमार ने बताया कि कोचिंग संस्थानों को खोलने के आदेश और राहत पैकेज देने के संबंध में मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा जा चुका है। राज्य सरकार सभी संस्थानों को खोलने के आदेश दे रही है, लेकिन कोचिंग और लाइब्रेरी संस्थानों को खोलने के आदेश नहीं दिए हैं। ऐसे में अब शीघ्र ही कोचिंग और लाइब्रेरी संचालक मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे तथा कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ संस्थानों को खोलने की अनुमति देने की मांग करेंगे।
कोचिंग संस्थान बंद होने के कारण इनके संचालक, शिक्षक और अन्य कर्मचरी विकट परिस्थिति का सामना कर रहे हैं।
महासंघ के प्रदेश संगठन मंत्री संजय चौधरी ने बताया कि इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए गोपालपुरा बायपास,रामगढ़ मोड आमेर रोड, सांगानेर में श्योपुर रोड पर स्थित कोचिंग संचालकों का समर्थन प्राप्त कर लिया गया है। झोटवाड़ा और जगतपुरा प्रताप नगर के कोचिंग संचालक भी मुख्यमंत्री आवास के घेराव करने के इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। कोचिंग संचालकों का कहना है कि कोचिंग आने वाले बच्चे 18 साल से अधिक उम्र के वह बच्चे होते हैं जो प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे में जिन्होंने वैक्सीन का एक डोज लगवा लिया है उन्हें कोचिंग आने की अनुमति दी जानी चाहिए।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned