Anoop Soni, Yashpal Sharma Vibha Chibbar कोलाज ऑफ किलकारी में बच्चों से रूबरू

रविवार को वर्कशॉप में नेशनल स्कूल आफ ड्रामा ( NSD ) की थियेटर इन एजुकेशन ( TIE ) की फॉर्मर चीफ व चिल्ड्रन थियेटर एक्सपर्ट विभा छिब्बर ने बच्चों से मुलाकात की।

By: surendra kumar samariya

Updated: 14 Jun 2020, 09:02 PM IST

जयपुर

कोरोना संक्रमण का कहर जरूर है, लेकिन बच्चों को नई—नई चीजें सीखाने और विभिन्न पहलुओं से रूबरू कराने वाली गतिविधियां निरंतर चालू है। इसी में शामिल है क्यूरियो जयपुर की चिल्ड्रंस एक्टिंग थियेटर वर्कशॉप 'कोलॉज ऑफ किलकारी'। सात जून से शुरू वर्कशॉप में कई एक्टर बच्चों से मिल रहे है। उन्हें जीवन और सपनों को उड़ान भरने के बारे में बता रहे है।

रविवार को वर्कशॉप में नेशनल स्कूल आफ ड्रामा ( NSD ) की थियेटर इन एजुकेशन ( TIE ) की फॉर्मर चीफ व चिल्ड्रन थियेटर एक्सपर्ट विभा छिब्बर ने बच्चों से मुलाकात की। ऑनलाइन सेशन में उन्होंने चिल्ड्रन थियेटर की महत्ता बताई। 'चक दे इंडिया' फिल्म फेम छिब्बर ने कहा कि हर बच्चे को थियेटर करना चाहिए। उन्होंने लॉकडाउन से बात जोड़ते हुए कहा कि आप जितना हो वर्कशॉप से सीखें। थियेटर को अपने रूटीन में अपनाओ। नया लिखा, नया पढा। रचनात्मकता पेपर पर लाओ। तभी जब आप बाहर निकलोगे तो आपकी पर्सनैलिटी डिफरेंट ही होगी। अपने आप को एक्सप्लोर करो।

अनूप सोनी और यशपाल शर्मा भी रूबरू

इस वर्कशॉप में अभी तक एक्टर अनूप सोनी ( anoop soni ) और यशपाल शर्मा ( yashpal sharma ) बच्चों ने वर्चुअल रूबरू होकर अभियन के टिप्स दे चुके है। उन्होंने बच्चों के प्रश्नों के जवाब दिए। जिझासाओं को पंख लगाने के बारे में बताया। क्यूरियो के गगन मिश्रा ने बताया कि संस्कृति मंत्रालय और राजस्थान ललित कला अकादमी के सहयोग से वर्कशॉप 16 जून तक चलेगी। यह वर्कशॉप हर साल शहर में होती है। इसमें बच्चों को थियेटर, एक्टिंग, बुद्धि विकास, क्रिएटिव सेशंस पर ज़ोर दिया जाता है। वर्चुअल होने से दिल्ली, मुंबई, उदयपुर और मध्यप्रदेश से भी बच्चे जुड़े है।

surendra kumar samariya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned