सेना ने छावनियों में बनाए संदिग्ध वार्ड, त्वरित मेडिकल प्रतिक्रिया दल गठित

जयपुर. शांतिकाल में छाबनियों में रह रही सेना ने भी स्वयं को कोरोना वायरस से बचाने की पूरी तैयारी कर ली है। देश भर में फैली सेना की छावनियों के कमांडिंग अफसर अधीनस्थों के साथ तैयारियों में जुटे हुए हैं। सभी सैन्य अस्पतालों में कोरोना संदिग्धों के लिए अलग से वार्ड बनाए गए हैं और जीवनरक्षक दवाओं का स्टॉक किया जा रहा है।

By: Subhash Raj

Published: 19 Mar 2020, 07:30 PM IST

सेना के प्रमुख अधिकारियों ने जवानों के बीच कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए पूरी तैयारी की जा रही है। सेना की मध्य कमान के तहत सभी सैन्य स्टेशनों द्वारा किए गए एहतियाती उपायों की समीक्षा की गई। सैन्य कर्मियों के सभी गैर-आवश्यक आवाजाही को निलंबित कर दिया गया है। सभी सैन्य संरचनाओं ने भविष्य में विकसित होने वाली किसी भी प्रतिकूल परिस्थिति को पूरा करने के लिए संगरोध व्यवस्था की है। सभी सैन्य अस्पतालों 'संदिग्ध वार्ड' बनाकर मरीजों को संदिग्ध मरीजों से बचाने के लिए सीओवीआईडी -19 के संभावित प्रसार को सीमित करने और इसके प्रसार को रोकने के लिए व्यापक तैयारी की है। किसी भी घटना से निपटने के लिए प्रत्येक अस्पताल में विशेषज्ञ डॉक्टरों और जीवन रक्षक चिकित्सा उपकरणों और दवाओं की एक टीम को नियुक्त किया गया है। यदि आवश्यक हो तो प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वायरस मामलों से निपटने और आपात स्थिति में नागरिक प्रशासन की सहायता के लिए मध्य कमान के तहत सभी क्षेत्रों में त्वरित प्रतिक्रिया मेडिकल टीमों का गठन किया गया है। सीओवीआईडी -19 और इसकी रोकथाम के बारे में सेना के कर्मियों और उनके परिवारों को जागरूक बनाने के लिए सैन्य स्टेशनों पर गहन सूचना-शिक्षा-संचार अभियान चलाया जा रहा है।

Subhash Raj
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned