Article 370 : जयपुर में पढ़ रहे कश्मीरी विद्यार्थियों को सता रही घर की चिंता

Article 370 : जयपुर में पढ़ रहे कश्मीरी विद्यार्थियों को सता रही घर की चिंता

Deepshikha | Updated: 06 Aug 2019, 05:26:55 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

शहर के विभिन्न कॉलेजों व विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत है करीब सौ छात्र-छात्राएं



जयपुर. Kashmiri Student in Jaipur : जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 ( Article 370 ) हटाए जाने और वहां कर्फ्यू के साथ संचार सेवाएं काटे जाने का असर शहर में पढ़ रहे जम्मू-कश्मीर के विद्यार्थियों पर भी पड़ा है। शहर के विभिन्न निजी व सरकारी कॉलेजों-विश्वविद्यालयों में जम्मू-कश्मीर के करीब सौ से अधिक विद्यार्थी ( Kashmiri students ) पढ़ रहे हैं। इन छात्र-छात्राओं ने परिवार से बात नहीं होने पर चिंता जताई।

 

एमएनआईटी ( MNIT ) में पढ़ रहे एक छात्र ने कहा कि परिवार से सम्पर्क टूट गया है। वहां लैंडलाइन फोन भी नहीं चल रहा है। इस कारण परिवार को खबर नहीं मिल पा रही है। हालांकि सोशल मीडिया, टीवी और अखबारों के माध्यम से पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। छात्रों ने बताया कि पहले ईद-उल-अजहा त्योहार पर घर जाने का प्लान बना रहे थे। अब असमंजस की स्थिति है। स्थितियां सामान्य रही तो ही घर जाएंगे।

 


जम्मू-कठुआ के छात्र परिवार के सम्पर्क में

जम्मू, कठुआ व अन्य जिलों के छात्र अपेक्षाकृत कम डरे हुए हैं। कई स्थानों पर फोन भी चल रहा है। वे लगातार अपने परिवार के सम्पर्क में भी हैं। कठुआ की एक छात्रा ने बताया कि मम्मी-पापा से आज सुबह ही बात हुई है। उन्होंने सब ठीक बताया है, इसीलिए टेंशन नहीं है। यहां भी स्थिति सामान्य है। कोई परेशानी नहीं है। हॉस्टल में सब कुछ सामान्य है। केयर टेकर्स विशेष ध्यान रख रहे हैं।

 

पीएम स्कॉलरशिप के बाद बढ़ी छात्रों की संख्या

मेडीकल, इंजीनियरिंग कॉलेजों में जम्मू-कश्मीर के निवासी विद्यार्थियों की संख्या अधिक है। दरअसल, साल 2013-14 में प्रधानमंत्री ( PM Scholarship ) विशेष छात्रवृत्ति स्कीम के बाद छात्र-छात्राओं की संख्या काफी बढ़ी है। जयपुर के अलावा कोटा में कोचिंग में विद्यार्थियों की संख्या काफी अधिक है। पूरे प्रदेश में दो-तीन हजार छात्र-छात्राएं पढ़ रहे हैं।

 

 

अब होगा जे एंड के का विकास, यूथ को मिलेगा रोजगार

पूरे मामले पर जगतपुरा स्थित निजी यूनिवर्सिटी में ईसीई संकाय की प्रो. अपूर्वा कौल ने बताया कि वे जम्मू से हैं और कश्मीरी पंडित है। जम्मू में इंटरनेट नहीं चल रहा, मगर फोन से बात हो रही है। धारा 370 हटाए जाने पर कहा कि केंद्र सरकार का यह कदम काफी अच्छा है। इससे जम्मू-कश्मीर में इंडस्ट्रीज लगेंगी। युवाओं को रोजगार मिलेगा और जम्मू-कश्मीर का विकास होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned