अरुण चतुर्वेदी ने किया ईएसआई अस्पताल को कोविद सेंटर बनाने का विरोध

सोडाला के ईएसआई अस्पताल को कोविद सेंटर बनाने का भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने विरोध किया है।

By: Umesh Sharma

Published: 18 Apr 2020, 07:43 PM IST

जयपुर।

घनी आबादी क्षेत्र में लोगों के विरोध के बाद सरकार कोरोना संक्रमितों को बाहरी क्षेत्रों में शिफ्ट कर रही है। मगर यहां भी सरकार को लगातार विरोध का सामना करना पड़ रहा है। पहले जयपुरिया अस्पताल में कोरोना संक्रमितों को शिफ्ट करने का विधायक कालीचरण सराफ और स्थानीय विकास समितियों ने विरोध किया। अब सोडाला के ईएसआई अस्पताल को कोविद सेंटर बनाने का भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने विरोध किया है।

चतुर्वेदी ने कलेक्टर को पत्र लिखकर मांग की ईएसआई हॉस्पिटल सघन आबादी क्षेत्र में स्थित है। साथ ही इस अस्पताल में राज्य सरकार व केंद्र सरकार के बड़ी संख्या में सेवानिवृत कर्मचारी भी इलाज के लिए आते है। कोविड हॉस्पिटल बनाने से बड़ी संख्या में आने वाले मरीजों को असुविधा होगी।

चतुर्वेदी ने कहा की सबसे गंभीर बात है कि इस अस्पताल के परिसर में ही स्टाफ के परिवार के लगभग 600 लोग रहते हैं। इसको डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल बनाने से सभी में भय का वातावरण बन गया है। समझ में नही आ रहा कि राज्य सरकार अपने अव्यावहारिक निर्णयों से कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी कर क्यों नंबर वन बनाने पर तुली हुई है। अब तक जो आग परकोटे तक रुकी हुई है क्यों उसको सारे जयपुर में फैलाना चाहती है। आपको बता दें कि हाथी बाबू का हत्था में भी कोरोना संक्रमितों को एक होटल में क्वारेंटाइन करने का चतुर्वेदी विरोध कर चुके हैं।

Corona virus COVID-19 virus
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned