scriptAsaduddin Owaisi working to strengthen the organization in Rajasthan | राजस्थान में संगठन को मजबूत करने में जुटे ओवैसी, रिटायर्ड नौकरशाह को कमान देने की तैयारी | Patrika News

राजस्थान में संगठन को मजबूत करने में जुटे ओवैसी, रिटायर्ड नौकरशाह को कमान देने की तैयारी

-जून से राजस्थान में एआईएमआईएम की संगठनात्मक गतिविधियां होंगी शुरू, 2 दिन कार्यकर्ताओं और बुद्धिजीवियों के साथ ओवैसी ने किया था मंथन, रिटायर्ड नौकरशाह और उद्योगपति भी ओवैसी के संपर्क में

जयपुर

Updated: April 16, 2022 12:01:04 pm

जयपुर। प्रदेश में साल 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ कांग्रेस को चुनौती देने के लिए एआईएमआईएम के चीफ और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी की भी एंट्री हो गई है। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर असदुद्दीन ओवैसी इन दिनों राजस्थान में संगठन खड़ा करने की तैयारियों में जुटे हुए हैं।

Owaisi
Owaisi

संगठन खड़ा करने और कार्यकर्ताओं से जमीनी फीडबैक के लिए हाल ही में जयपुर दौरे पर आए ओवैसी ने 2 दिन तक समर्थकों और बुद्धिजीवियों के साथ मंथन किया था और पार्टी की संभावनाएं तलाशी थीं।

रिटायर्ड नौकरशाह को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चा
विश्वस्त सूत्रों की माने तो असदुद्दीन ओवैसी की नजर इन दिनों राजस्थान में रिटायर्ड अल्पसंख्यक अधिकारियों के साथ-साथ कई बुद्धिजीवियों और उद्योगपतियों पर भी है। चर्चा यह भी है कि असदुद्दीन ओवैसी राजस्थान में अपनी पार्टी की कमान एक रिटायर्ड नौकरशाह को देने की तैयारी में है।

इस नौकरशाह और ओवैसी के बीच पुराने घनिष्ठ संबंध रहे हैं। इसके अलावा चर्चा यह भी है कि कई रिटायर्ड नौकरशाह को ओवैसी अपनी पार्टी के बैनर तले विधानसभा चुनाव में उतारना भी चाहते हैं।

35 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने की चर्चा
बताया जा रहा है कि असदुद्दीन ओवैसी और उनके थिंक टैंक ने राजस्थान की करीब 35 से ज्यादा अल्पसंख्यक बाहुल्य सीटों का रोडमैप तैयार किया है, जहां पर पार्टी अपने प्रत्याशी उतारेगी। हालांकि चर्चा यह भी है कि आदिवासी अंचल में ओवैसी बीटीपी या अन्य दूसरे दलों के साथ भी गठबंधन करके प्रत्याशी खड़े कर सकते हैं।

जून माह से शुरू होंगी संगठनात्म गतिविधियां
असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एमआईएम की राजस्थान में मजबूती से उतरने की कवायद के मद्देनजर संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ संगठन गतिविधियां भी जून माह से शुरू कर दी जाएंगी, जिसके तहत जिन-जिन सीटों पर पार्टी को चुनाव लड़ना है उन सीटों पर नुक्कड़ सभाएं और रोड शो शुरू कर दिए जाएंगे।


ओवैसी की एंट्री से कांग्रेस में चिंता
इधर राजस्थान में ओवैसी की एंट्री से प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के माथे पर चिंता की लकीरें हैं। दरअसल कांग्रेस को चिंता इस बात की है कि ओवैसी की आने के बाद उनके परंपरागत वोट बैंक में कहीं सेंध नहीं लग जाए, हालांकि पार्टी के एक धड़े का यह भी कहना है कि पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश की तरह राजस्थान में भी ओवैसी को कोई फायदा नहीं होने वाला है और यहां सीधा मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच ही होगा।

लगातार दौरे कर रहे हैं ओवैसी
राजस्थान में अपनी पार्टी के लिए नई चुनावी जमीन तलाशने के लिए असदुद्दीन औवेसी लगातार जयपुर के दौरे करके कांग्रेस से अंसतुष्ट नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले तीन साल में सत्ता और संगठन में अपनी उपेक्षा से नाराज होकर कांग्रेस से जुड़े नेताओं ने दिल्ली जाकर औवेसी को राजस्थान आने का न्यौता दिया था, जिसके बाद से ही औवेसी जयपुर आकर समर्थकों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थाकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मMenstrual Hygiene Day 2022: दुनिया के वो देश जिन्होंने पेड पीरियड लीव को दी मंजूरी'साउथ फिल्मों ने मुझे बुरी हिंदी फिल्मों से बचाया' ये क्या बोल गए सोनू सूदभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.