Ashok Chandna: आज भी गर्माया हुआ है मंत्री का कथित Viral Audio प्रकरण, कल नेशनल ट्रेंड कर गया ‘’#अशोक_चांदना_इस्तीफा दो’’

खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना ( Ashok Chandna ) का नैनवां पंचायत समिति सदस्य के लिए वार्ड पांच से निर्दलीय प्रत्याशी राजूलाल गुर्जर को धमकाने का ऑडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसके बाद से उनके इस्तीफा दिए जाने की मांग उठने लगी है।

By: nakul

Published: 22 Nov 2020, 11:36 AM IST

जयपुर।

खेल मंत्री अशोक चांदना ( Ashok Chandna ) का एक निर्दलीय प्रत्याशी को धमकाने का कथित ऑडियो ( Audio Call Recording Viral ) मामला गर्माया हुआ है। शनिवार को दिनभर चर्चाओं में रहा यह प्रकरण आज भी सोशल मीडिया पर चर्चाओं में बना हुआ है। वायरल ऑडियो में बताई जा रही मंत्री के आपत्तिजनक बयानबाजी को लेकर यूज़र्स उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं।

नेशनल ट्रेंड कर गया प्रकरण
मंत्री चांदना का आपत्तिजनक टेलीफोनिक वार्ता का कथित ऑडियो वायरल होने के बाद शनिवार को ये प्रकरण राज्य ही नहीं बल्कि नेशनल ट्रेंड कर गया। इस प्रकरण को लेकर देश भर में हो रही चर्चा का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक समय यह प्रकरण ट्विटर प्लेटफॉर्म पर हो रहे नेशनल ट्रेंडिंग पर दूसरे नंबर पर ट्रेंड कर रहा था।

यूज़र्स मांग रहे मंत्री से इस्तीफा
मंत्री चांदना के कथित ऑडियो के सामने आने के बाद ट्विटर यूज़र्स का गुस्सा फूट पड़ा है। मंत्री के ऑडियो के आधार पर उनकी भाषा को अशोभनीय और अमर्यादित करार दिया जा रहा है। ट्विटर पर कल दिनभर हैश टैग ‘’अशोक_चांदना_इस्तीफा दो‘’ ट्रेंड करता रहा। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शुरू हुआ मंत्री विरोधी अभियान आज भी जारी है। यही हैश टैग कल 21 हज़ार ट्वीट्स के साथ दूसरे नंबर पर नेशनल ट्रेंड कर रहा था।

enb1z22uuaer9ke.jpg

ये है प्रकरण
खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना का नैनवां पंचायत समिति सदस्य के लिए वार्ड पांच से निर्दलीय प्रत्याशी राजूलाल गुर्जर को धमकाने का ऑडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। राजूलाल ने नैनवां पंचायत समिति के वार्ड पांच से कांग्रेस का टिकट मांगा था। टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ रहा है।

भाजपा ने की जांच की मांग
भाजपा ने खेल मंत्री अशोक चांदना के कथित ऑडियो वायरल मामले की जांच की मांग की है। भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा है कि लोकतंत्र में इस तरह के शब्दों का कोई स्थान नहीं है। कथित वायरल ऑडियो की जांच होनी चाहिये। यदि जांच में मंत्री असंवैधानिक व्यवहार करता पाया जाए तो नैतिकता के आधार पर उन्हें पद से इस्तीफा दे देना चाहिये।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned