scriptAshok Gehlot on BJP's target over Home Minister position law and order | Rajasthan BJP ने दिखाया 'होम मिनिस्टर' Ashok Gehlot का रिपोर्ट कार्ड, कहा- 'स्थिति बेकाबू, चाहिए फुल टाइम गृहमंत्री' | Patrika News

Rajasthan BJP ने दिखाया 'होम मिनिस्टर' Ashok Gehlot का रिपोर्ट कार्ड, कहा- 'स्थिति बेकाबू, चाहिए फुल टाइम गृहमंत्री'

CM Ashok Gehlot on BJP's target over Home Minister position and law and order - फिर गरमाने लगा है क़ानून व्यवस्था का मुद्दा, निशाने पर गहलोत सरकार- 'कटघरे' में मुख्यमंत्री, भाजपा ने फिर जारी किया होम मिनिस्टर गहलोत का 'रिपोर्ट कार्ड', विगत तीन साल की विफलताओं का दिया हवाला, आंकड़ों के आधार पर बताया क़ानून व्यवस्था बदहाल

 

जयपुर

Published: January 22, 2022 11:35:10 am

जयपुर।

राजस्थान में बढ़ते क्राइम ग्राफ और आये दिन सामने आ रही आपराधिक घटनाओं ( Rajasthan Crime , Law and Order ) के बीच एक बार फिर प्रदेश में फुल टाइम होम मिनिस्टर ( Home Minister ) की आवाज़ उठने लगी है। खासतौर से प्रमुख्य विपक्षी दल BJP इस मांग को पुरज़ोर तरीके से उठा रही है। भाजपा का मानना है कि प्रदेश में क़ानून व्यवस्था के लिहाज़ से जो मौजूदा हालात बने हुए है उसमें ज़रूरी हो गया है कि इस महत्वपूर्ण महकमें का ज़िम्मा किसी पूर्णकालिक मंत्री को सौंपा जाए।

Ashok Gehlot on BJP's target over Home Minister position law and order

गौरतलब है कि प्रदेश को फुल टाइम गृह मंत्री दिए जाने की मांग भाजपा इससे पहले भी समय-समय पर उठाती रही है, लेकिन सरकार का तीन वर्ष से भी ज़्यादा का कार्यकाल पूरा होने के बाद भी गृह विभाग के मंत्री पद पर बदलाव नहीं हो सका है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वयं इस विभाग की कमान संभाली हुई है।

जन सुरक्षा देने में विफल हैं मुख्यमंत्री: डॉ पूनिया
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने कहा है कि गृहमंत्री अशोक गहलोत जन घोषणा पत्र में जन सुरक्षा के किए वादे को निभाने में पूरी तरह विफल हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री गंभीरता दिखाते हुए या तो कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कोई ठोस कार्ययोजना पर जल्द कार्य करें या फिर प्रदेश को एक फुल टाइम गृहमंत्री मिलना चाहिए जिससे बहन-बेटियों की सुरक्षा व सम्मान सुनिश्चित हो सके।

भाजपा ने गिनाई 'फैक्ट फ़ाइल'- (आंकड़े विगत 3 वर्ष के)

- कुल मामले दर्ज- 6 लाख 51 हजार से अधिक

- महिलाओं पर अत्याचार के मामले- 1 लाख 17 हजार से अधिक

- बलात्कार के मामलों में- 19.50 प्रतिशत की बढ़ोतरी

- आदिवासी महिलाओं पर अत्याचार- 5800 से अधिक मामले

- महिलाओं-बच्चियों से दुष्कर्म मामलों में पहले स्थान पर राजस्थान

- दलित-आदिवासियों के साथ अत्याचार मामलों में दूसरे स्थान पर राजस्थान


अलवर-उदयपुर घटनाएं, निशाने पर गहलोत

पहले अलवर में बालिका से दुराचार और उसके कुछ वक्त बाद ही उदयपुर में आदिवासी महिला से गैंगरेप की एक के बाद एक दो दिल दहला डालने वाली घटनाओं के बाद भाजपा आक्रामक मोड पर उतर आई है। पार्टी के शीर्ष नेताओं ने ख़ासतौर पर गृह मंत्री की भूमिका में बैठे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को निशाने पर लेना शुरू कर दिया है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया का कहना है कि राजस्थान की कानून व्यवस्था की देश में सबसे बुरी स्थिति है। यहां के हालात इस कदर हो चुके हैं कि अपराधी मस्त हैं, जनता त्रस्त है और मुख्यमंत्री वर्चुअल में व्यस्त हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। आदिवासी महिलाओं पर तो अत्याचार के 5 हज़ार 800 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’Asia Cup Hockey 2022: अब्दुल राणा के आखिरी मिनट में गोल की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ ड्रा पर खत्म किया मुकाबला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.