VIDEO: गहलोत बोले, ‘जनता ने राजभवन घेरा तो इसकी ज़िम्मेदारी हमारी नहीं’

गहलोत ने कहा कि हमने राज्यपाल से विधानसभा सत्र बुलाये जाने के लिए लिखित पत्र सौंपकर दरख्वास्त की है, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया। उन्होंने कहा कि जनता सब देख रही है। जनता ने राजभवन घेरा तो इसकी ज़िम्मेदारी हमारी नहीं होगी।

By: Nakul Devarshi

Published: 24 Jul 2020, 01:43 PM IST

जयपुर

राजस्थान में सियासी उठापटक का सिलसिला जारी है। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके समर्थित विधायकों की याकाहिका पर हाईकोर्ट का स्टे आने के बाद स्थितियां अचानक से बदल गई हैं। कोर्ट के रुख को पायलट गुट के लिए बड़ी राहत के तौर पर देखा जा रहा है। इधर, बदली परिस्थितियों के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी अब बहुमत साबित करने को लेकर खुलकर आइदान में आते दिख रहे हैं।

पायलट गुट की याचिका पर हाईकोर्ट का रुख सामने आने के बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने अपनी प्रतिक्रिया में एक बार फिर दोहराया कि बहुमत उनके साथ है और सरकार को किसी तरह का कोई खतरा नहीं है।

गहलोत ने कहा कि हमने राज्यपाल से विधानसभा सत्र बुलाये जाने के लिए लिखित पत्र सौंपकर दरख्वास्त की है, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया। उन्होंने कहा कि जनता सब देख रही है। जनता ने राजभवन घेरा तो इसकी ज़िम्मेदारी हमारी नहीं होगी।

मीडिया से बातचीत में गहलोत ने विरोधियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा के इशारे पर विधायकों को बंधक बनाया गया है। भाजपा हमारे खिलाफ षड़यंत्र रच रही है। मध्य प्रदेश जैसा खेल राजस्थान में खेलने की साजिश चल रही है। लेकिन उन्हें इसमें कामयाबी नहीं मिलेगी।

गहलोत ने कहा कि ये वक्त साथ मिलकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने का है, लेकिन इस दौरान सरकार को गिराने की साजिश रचना सही नहीं है। उन्होंने ईडी की कार्रवाइयों पर कहा कि ये सब केंद्र के इशारे पर हो रहा है।

Show More
Nakul Devarshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

अगली कहानी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned