उर्दू माध्यम के स्कूलों में दिया हिंदी माध्यम का पेपर

- गुणवत्ता जांचने के लिए गुणवत्ता परीक्षा स्कूलों में हुई

By: Jaya Gupta

Published: 01 Mar 2020, 08:44 PM IST

जयपुर। प्रदेशभर के विद्यार्थियों की शैक्षिक गुणवत्ता जांचने के लिए गुणवत्ता परीक्षा स्कूलों में हुई। परीक्षा में शहर के तीन उर्दू माध्यम के स्कूलों में परीक्षा का पर्चा हिंदी माध्यम का दिया गया, इससे सौ से अधिक विद्यार्थी और शिक्षक परेशान हुए। हुआ यों कि नीलगरान,कमानीगरान और मौलाना साहब के उर्दू माध्यम सरकारी प्राथमिक स्कूलों में विद्यार्थियों को को हिंदी माध्यम का पेपर थमा दिया। शिक्षकों के अनुसार पेपर उर्दू में ही होना चाहिए था। गणित का पेपर रियाज़ी हिसाब के नाम से होना चाहिए था। राजकीय प्राथमिक विद्यालय कमनीगरान के संस्था प्रधान अब्दुल वहीद ने बताया कि स्कूल में बच्चे उर्दू के हैं और इन्हें पेपर हिंदी में दिया गया, जबकि हमने उर्दू की ही मांग की थी।

वर्जन -
विभाग को उर्दू माध्यम के स्कूलों में हुई गुणवत्ता परीक्षा रद्द कर पुन: उर्दू माध्यम के विद्यार्थियों की उर्दू में ही परीक्षा लेनी चाहिए।
अमीन कायमखानी, प्रदेशाध्यक्ष, राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ


- उर्दू माध्यम के विद्यार्थियों को यदि हिंदी में पेपर दिया है तो इस मामले को दिखवाता हूं। पेपर उर्दू में ही मिलना चाहिए था।
गोविंद सिंह डोटासरा, शिक्षामंत्री

Jaya Gupta Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned