हथियारों के लाइसेंस लेने के मामले में एटीएस ने किया अब तक का सबसे बड़ा खुलासा

हथियारों के लाइसेंस लेने के मामले में एटीएस ने किया अब तक का सबसे बड़ा खुलासा

Dinesh Saini | Updated: 18 Sep 2017, 04:12:54 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

जम्मू और पंजाब से पहले ही जब्त किए जा चुके हैं गन हाउस के रिकॉर्ड...

जयपुर। अवैध तरीके से हथियारों के लाइसेंस लेने के मामले में एटीएस ने अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया है। जम्मू से ऑपरेट हो रहे इस पूरे गैंग ने देश में हजारों लोगों को गलत तरीके से हथियारों के लाइसेंस बांट दिए हैं। ये लाइसेंस न तो पुलिस ने वेरिफाई किए हैं और न ही किसी अन्य पुलिस संस्था ने। इन हथियारा लाइसेंस के जरिए करोड़ों रुपयों के अवैध हथियार भी बेचे गए हैं। एटीएस राजस्थान की टीम ने इस मामले में जम्मू और पंजाब के गन हाउस से रिकॉर्ड बरामद कर लिए हैं।

 

अब मध्यप्रदेश के देवास से भी रिकॉर्ड जब्त किए जा चुके हैं। बताया जा रहा है कि इन रिकॉर्डस को लेकर शाम तक एटीएस की टीम जयपुर पहुंच सकती है। इस मामले में अब तक तीन राज्यों से दर्जन भर से भी ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

 

देश भर में जारी कर दिए लाइसेंस
एटीएस टीम की पूछताछ में सामने आया है कि जम्मू, पंजाब और एमपी से देश भर में करीब एक हजार से भी ज्यादा लोगों को लाइसेंस जारी कर दिए गए हैं।

 

राजस्थान, यूपी, एमपी, पंजाब, और अन्य राज्यों में लाइसेंस जारी करने के साथ ही इन लोगों ने अवैध तरीके से हथियार भी उपलब्ध कराए हैं। बताया जा रहा है कि इनमें से अधिकतर हथियारों को नीलामी में खरीदने के बाद उनको मरम्मत कर बेचा गया है।

 

गौरतलब है कि एटीएस ने हथियारों के अवैध लाइसेंस बनाने और बेचने वाले गिरोह से मिले सुराग के आधार पर एटीएस ने जम्मू में जमकर छापेमारी की थी। शनिवार को की गई इस छापेमारी में भारी मात्रा में फर्जी हथियार लाइसेंस, सेना के अधिकारियों के नाम की मुहर, प्रशानिक अधिकारियों की मुहरें और अन्य फर्जी दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

 

इस बीच मामले में उदयपुर के भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारी और एक चर्चित कांग्रेस नेता के बेटे सहित 20 लोगों को नोटिस दिया गया। एटीएस के मुताबिक, उदयपुर, पाली, सिरोही और आस-पास के जिलों में गिरोह ने सर्वाधिक लाइसेंस बेचे थे यह लाइसेंस और हथियार प्रॉपर्टी कारोबारी, बिल्डर, मार्बल कारोबारी, राजनेता और आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को तीन से चार लाख रुपए में मुहैया कराया गया था। इस बीच खबर है कि मालवा गन हाउस का रिकॉर्ड लेने गई एटीएस की टीम सोमवार देर रात तक जयपुर लौट सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned