ओम माथुर बोले- जम्मू-कश्मीर की स्वाधीनता दिवस के रुप में मनाया जाए 5 अगस्त

ओम माथुर बोले- जम्मू-कश्मीर की स्वाधीनता दिवस के रुप में मनाया जाए 5 अगस्त

Santosh Kumar Trivedi | Publish: Aug, 15 2019 01:27:44 PM (IST) | Updated: Aug, 15 2019 01:30:16 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

राजस्थान की राजधानी जयपुर में बड़ी चौपड़ पर परंपरा का निर्वाह करते हुए कांग्रेस और भाजपा ने झंडा रोहण किया।

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में बड़ी चौपड़ पर परंपरा का निर्वाह करते हुए कांग्रेस और भाजपा ने झंडा रोहण किया। जहां कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तिरंगा फहराया वहीं भाजपा की तरफ से पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर ने ध्वजारोहण किया। इस मौके ओम पर माथुर ने कहा कि सही मायनों में इस बार देश स्वतंत्रता दिवस मना रहा है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया है।

 

माथुर ने कहा कि मेरा और मेरी पार्टी का स्पष्ट रूप से मानना है कि जिस प्रकार से 15 अगस्त और 26 जनवरी मनाया जाए। उसी तरह से 5 अगस्त भी जम्मू-कश्मीर की स्वाधीनता दिवस के रुप में मनाया जाए। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को लेकर कहा कि नेहरू की गलती के कारण जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद- 370 लगी। भाजपा ने वादा किया था कि वह इसे हटाएगी और हटा दिया। माथुर बोले कि 370 की वहज से जम्मू में विकास नहीं हो पा रहा था। हमारी योजनाएं नहीं पहुंच पा रही थी, लेकिन अब यह संभव होगा।

 

उधर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को लाल किले की प्राचीर से कहा कि जम्मू कश्मीर से संबंधित अनुच्छेद 370 को हटाकर ‘एक देश एक संविधान’ का सिद्धांत लागू हो गया है और अब अगला लक्ष्य ‘एक देश एक चुनाव’ है। उन्होंने बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 100 लाख करोड़ रुपए के निवेश और सैन्य शक्ति को मजबूत बनाने के लिए तीनों सेना के वास्ते सेनापति का नया पद सृजित करने की घोषणा भी की तथा जल संरक्षण के लिए साढे तीन लाख करोड़ रुपए की लागत से जल जीवन मिशन को पूरा करने का संकल्प व्यक्त किया।

मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाकर सरदार पटेल के सपने को पूरा करने तथा ‘एक देश, एक संविधान’ लागू करने का उल्लेख करते हुए कहा कि सत्तर साल में जो नहीं हुआ वह सत्तर दिनों में किया गया है और तीन तलाक जैसी प्रथा को भी दूर किया गया तथा गरीबी दूर करने के लिए जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता के सपने को पूरा करने तथा 21 वीं सदी के भारत के बारे में विचार करने का समय आ गया है। पांच साल पहले लोग सोचते थे क्या देश बदल सकता है, लेकिन अब लोग कह रहे हैं देश बदल रहा है।

 

प्रधानमंत्री के रूप में छठी बार लाल किले से तिरंगा फहराने वाले मोदी ने कहा कि दुनिया में कही भी आतंकवाद मानवता के खिलाफ एक युद्ध है, इसलिए विश्व की सभी मानवीय शक्तियों को एकजुट होने की जरूरत है और आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले और उसे फैलाने वालों को सबके सामने उजागर किया जाना जरूरी है तथा इस काम में भारत को सक्रिय भूमिका निभानी है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने भारत को ही नहीं बल्कि पड़ोसी देशों को भी आतंकवाद को तबाह करके रखा है। बंगलादेश, अफगानिस्तान भी आतंकवाद से जूझ रहा है श्रीलंका के चर्च में भी निर्दोष लोगों की हत्या की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned