सरकार जागी मौत की नींद सोने वालों को रोकने के लिए

Amit Pareek

Updated: 29 Jul 2019, 10:58:32 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

गडरारोड ( gadra rod ) . कम उम्र में खुदकुशी ( Suicide ) की बढ़ती घटनाएं समाज के लिए रेड अलर्ट है। यदि समाज समय रहते नहीं चेता तो आने वाले समय में सभी को इसके भयावह परिणाम झेलने होंगे। युवा पीढ़ी और किशोरवय छात्र-छात्राओं में जिस तरह अविश्वास घर कर रहा है उसके कारण ही वो दुनिया छोडऩे जैसा कदम उठाने में जरा भी संकोच नहीं करते। बेहतर होगा स्कूल-कॉलेज ( school college ) से ही विश्वास की नींव मजबूत की जाए ताकि समाज से यह समस्या खत्म हो सके। इसी उद्देश्य को लेकर सरकारी स्कूलों में आत्महत्या की रोकथाम के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिला कलेक्टर के निर्देश पर समूचे बाड़मेर ( Barmer ) के सरकारी स्कूलों में इस तरह के कार्यक्रमों के जरिए खुदकुशी की रोकथाम के बारे में बताया जा रहा है। उसके कारण-निवारण का खाका खींचा जा रहा है। इसी कड़ी में यहां राउमावि में जागरूकता कार्यक्रम ( Awareness program ) आयोजित किया गया।

खुदकुशी समाज के लिए घातक

कार्यक्रम में शिक्षाविद मदन लाल शर्मा ने आत्महत्या जैसे कदम को मानव समाज के लिए घातक बताया। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों में आत्मविश्वास की कमी के कारण इस प्रकार के कदम उठाए जाते हैं। साथ ही सोशल मीडिया ( social media ) का बढ़ता प्रभाव, तनाव ( tension ) , अवसाद, चिंता से इस प्रकार की घटनाएं भी खुदकुशी के लिए काफी हद तक जिम्मेदार हैं।

आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हो

मदन लाल शर्मा का कहना था कि आज के दौर में आत्महत्या जैसे कदम को रोकना समाज की पहली आवश्यकता है। यह तभी हो सकेगा जब विद्यार्थियो में दरकते विश्वास को पुन: स्थापित किया जा सकेगा। साथ ही विद्यालय में नैतिक शिक्षा, संस्कार, आदर्श मूल्यों की शिक्षा में बढ़ोतरी होनी चाहिए जिससे विद्यार्थी जीवन से ही आत्मविश्वास ( self confidence ) में बढ़ोतरी हो सके।

ये रहे मौजूद

कार्यक्रम को डॉ. खुशवंत खत्री, पीईईओ लूणाराम, प्रधानाचार्य सुंतर राम, हेड कांस्टेबल खेताराम चौधरी,शारिरिक शिक्षक मगदान ने भी संबोधित किया। इस दौरान शिक्षक, अभिभावक मौजूद रहे।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned