शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालयों में फर्जीवाड़ा रोकने की कवायद, विद्यार्थियों की हाजिरी होगी बायॉमेट्रिक

HIMANSHU SHARMA

Publish: May, 18 2018 11:02:17 AM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालयों में फर्जीवाड़ा रोकने की कवायद, विद्यार्थियों की हाजिरी होगी बायॉमेट्रिक

अगला शैक्षणिक सत्र शुरू होने से पहले लगानी होगी बायॉमेट्रिक मशीन

 


जयपुर

प्रदेश के बीएड कॉलेज में विद्यार्थियों की उपस्थिति के नाम पर होने वाले फर्जीवाड़े को रोकने की कवायद शुरू हो गई हैं। इस कवायद के तहत अब विद्यार्थियों की हाजिरी बायॉमेट्रिक मशीन पर दर्ज होगी जिससे हाजिरी के नाम पर शिक्षक प्रशिक्षक महाविद्यालयों में हो रहे फर्जीवाड़े को रोका जा सकें। इसके लिए प्रदेश के बीएड महाविद्यालयों में बायोमेट्रिक मशील लगानी होगा और इसकी सूचना पीटीइटी व राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद को देनी होगी। अगला शैक्षणिक सत्र शुरू होने से पहले महाविद्यालयों को यह व्यवस्था करनी होगी। जिसके बाद से अब जो 2018-19 का शैक्षणिक सत्र शुरू होगा उसमें से विद्यार्थियों की हाजिरी बायोमट्रिक होगी।

एेसे चलता था फर्जीवाड़ा

हाजिरी के नाम पर कई बीएड महाविद्यालय फर्जीवाड़ा कर रहे थे। जिसके बाद अब यह नई कवायद शुरू की गई हैं। इसमें महाविद्यालय एेसे विद्यार्थी जो कॉलेज में नहीं आते थे उनसे अतिरिक्त शुल्क वसूल कर उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति दे रहे थे। जिसकी शिकायत कई बार विश्वविद्यालयों व परिषद को मिली थी। इसके साथ ही अनुपस्थित रहने वाले विद्यार्थियों पर फाइन के नाम पर अतिरिक्त वसूली कर रहे थे। कई महाविद्यालयों पर एेसी शिकायतें मिलने पर महाविद्यालय संचालकों की मनमानी पर शिकंजा कसने के लिए बायॉमेट्रिक मशीन से हाजिरी के शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। महाविद्यालयों को अगला शैक्षणिक सत्र शुरू करने से पहले मशीन लगाने की सूचना उन विश्वविद्यालयों को देनी होगी जिससे उनको सम्बद्धता प्राप्त हैं। इसके बाद वह विश्वविद्यालय यह सूचना आगे भिजवाएंगे।

हर 15 दिन में अपडेट करनी होगी सूचना

प्रदेश के सभी बीएड महाविद्यालयों को अपनी वेबसाइट बनाने के निर्देश भी जारी किए गए थे। जिसके अनुसार इस वेबसाइट को महाविद्यालयों को हर 15 दिन से सूचनाएं अपडेट करनी होगी। इस वेबसाइट पर कॉलेज के इंफ्रास्ट्रक्चर की जानकारी, शिक्षकों की डिटेल व विद्यार्थियों के नामांकन की संख्या आदि बतानी होगी। इसके साथ ही मांगी गइ अन्य सूचनाएं भी हर 15 दिन में अपडेट करनी होगी।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned