फिर अपने शबाब पर बनास, 2016 जैसे बन रहे हालात

फिर अपने शबाब पर बनास, 2016 जैसे बन रहे हालात
फिर अपने शबाब पर बनास, 2016 जैसे बन रहे हालात

Anant Kumar Das | Updated: 15 Sep 2019, 09:40:35 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

मध्यप्रदेश और राजस्थान के कई क्षेत्रों में दो दिन से बारिश के चलते राजस्थान में कई बांधों का 'कोटा' फुल हो गया है। इससे कोटा और झालावाड़ में बाढ़ के हालात बन गए
हैं। कालीसिंध, चंबल और अन्य नदियां भी उफान पर हैं। बीसलपुर बांध के गेट खोलने के बाद बनास नदी एक बार फिर अपने शबाब पर है।

मध्यप्रदेश और राजस्थान के कई क्षेत्रों में दो दिन से बारिश के चलते राजस्थान में कई बांधों का 'कोटा' फुल हो गया है। इससे कोटा और झालावाड़ में बाढ़ के हालात बन गए हैं। कालीसिंध, चंबल और अन्य नदियां भी उफान पर हैं। बीसलपुर बांध के गेट खोलने के बाद बनास नदी एक बार फिर अपने शबाब पर है। बनास के तेज बहाव से अब 2016 की तरह बाढ़ की आशंका जताई जा रही है। वहीं जिला प्रशाशन ने बनास और चंबल नदी के किनारे बसे गांवों में अलर्ट जारी किया है। बनास नदी के पुल पर आए पानी को देखने के लिए हाड़ौती क्षेत्र के आस पास के लोगों सहित महिलाओं की भीड़ नदी को देखने के लिए उमड़ पड़ी।


आपको बतादें कि 2016 में भी बीसलपुर से पानी निकासी के बाद बाढ़ बिलोली और हाड़ौती का कांटड़ा डूब क्षेत्र में आने से सेना और एनडीआरएफ की मदद से यहां के लोगों को बाहर निकाला गया था। जिले भर में लगातार बारिश से फसलें खराब हो गई हैं। खासकर तिल और बाजरे की फसल में अधिक नुकसान हुआ है। शुरुआत में अच्छी बारिश की कामना के साथ किसानों ने फसलों की बुवाई की थी।

उम्मीद के अनुरूप ठीक ठाक बारिश से फसलों को लहलहाते देख किसानों के चहरे खिल रहे थे, लेकिन लौटता मानसून मानों किसानों पर कहर बनकर टूट पड़ा है। किसानों का कहना है कि फसल पकने के समय में लगातार हो रही बारिश से तिल की फसल पूरी तरह नष्ट हो गई है। वहीं बाजरे की फसल में भी अधिक नुकसान हुआ है। प्रकृति ने इस बार बारिश के रूप में किसानों पर वार किया है। जिले भर में फसल नष्ट हुई है। वहीं राजस्व विभाग की ओर से खराबे का सर्वे अबतक तक नहीं करवाया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned