इस महुर्त में पूजा कर होगी आपकी हर मनोकामना पूरी...देखिए

Chhavi Avasthi

Publish: Sep, 12 2018 09:00:52 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India

13 सितंबर को भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी, गुरुवार व स्वाति नक्षत्र के दुर्लभ संयोग में गणेश चतुर्थी मनेगी। यह संयोग सुख व समृद्धि की वृद्धि करेगा। आभूषण, जमीन, मकान, वाहन आदि खरीदना शुभ रहेगा। नए व्यापार के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन रहेगा। ज्योतिषियों के अनुसार जहां गणेश हैं, वहां शुभ और लाभ हैं। मंगल है। संपति है। इस दिन किया हर कार्य सफल होगा। शास्त्रों में गणपति का जन्म मध्याह्न काल में माना गया है। चतुर्थी के दिन मध्याह्न काल सुबह 11 बजकर दस मिनट से 11 बजकर छत्तीस मिनट तक रहेगा। वृश्चिक लग्न सुबह 11 बजकर पांच मिनट से दोपहर 1 बजकर बाईस मिनट तक रहेगा। श्रेष्ठ चौघड़िया सुबह 6 सोलह मिनट से 7 बजकर 47 मिनट तक रहेगा। शास्त्रों के अनुसार जिन जातकों पर राहु की दशा और दृष्टि है, उन्हें गणेश चतुर्थी के दिन गणपति की अराधना करनी चाहिए। सभी ग्रहों की शांति के लिए गणेशजी की उपासना श्रेष्ठ मानी गई है

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned