लॉकडाउन में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए आगे आए भामाशाह

भोजन और सूखा राशन देकर कर रहे लोगों की मदद

By: firoz shaifi

Published: 18 Apr 2020, 10:47 AM IST

जयपुर। कोरोना संकट के बाद लॉकडाउन के चलते लोग घरों में कैद है जिसके चलते लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। लॉकडाउन होने के बाद लोगों की दुख तकलीफों को देखते हुए भामाशाह और समाजसेवी आगे आए हैं जो लोगों को घर-घर जाकर पका भोजन और सूखी राशन सामग्री उपलब्ध करा रहे हैं। कई भामाशाह और समाजसेवी हैं जो प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा लोगों को पका भोजन औऱ राशन सामग्री और मास्क उपलब्ध करा रहे हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी भामाशाहों और समाजसेवियों से लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद की अपील की थी। सीएम की अपील के बाद कई युवा भामाशाह और समाजसेवी आगे आए हैं जो लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं, ऐसे ही युवा भामाशाह अविन सिंह जुनेजा और शिंपी रंधावा भी हैं जो प्रतिदिन लोगों को सूखा राशन और पके भोजन के पैकेट उपलब्ध करा रहे हैं।

युवा भामाशाह अविन सिंह ने बताया कि वे प्रतिदिन एक हजार लोगों तक खाने के पैकेट और सूखा राशन पहुंचा रहे हैं, उन्होंने इसके अपने नंबर सोशल मीडिया पर शेयर किए हैं कि जिसे भी सूखे राशन की आवश्यकता हो वो उन नंबर पर कॉल कर दे तो उसे घर बैठे ही राशन पहुंचा दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि वे जयपुर शहर के अलग-अलग इलाकों में प्रतिदिन सूखा राशन और भोजन के पैकेट वितरित कर रहे हैं।इसी प्रकार युवा समाजसेवी शिंपी रंधावा भी लगातार जरुरत मंद और गरीब लोगों तक पके भोजन के पैकेट पहुंचा रही है।

उन्होंने बताया कि वे प्रतिदिन 250 भोजन के पैकेट तैयार जरुरत मंद लोगों के बीच वितरित करती हैं। शिंपी रंधावा ने लोगों से अपील भी है कि कोरोना जैसी भयंकर बीमारी से बचने का एकमात्र उपाय यही है कि आप सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन का पालन करें और घरों में रहें।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned