भारत बंद: छावनी बने कई जिले! पुलिस ने किया फ्लैग मार्च, कई पदाधिकारी हिरासत में, यहां कराए गए स्कूल-दुकाने बंद

dinesh saini | Publish: Sep, 06 2018 11:56:42 AM (IST) | Updated: Sep, 06 2018 02:24:48 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर। भारत बंद को लेकर प्रदेश में भारी पुलिस बंदोबस्त किए गए हैं। सोशल मीडिया के आह्वान पर यह तीसरी बार है कि बंद सफल होता दिखाई दे रहा है। बंद के दौरान किसी भी तरह की स्थित से निपटने के लिए पुलिस तैनात है। पुलिस मुख्यालय से सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को बंद के दौरान फील्ड़ में रहने के निर्देश हैं। साथ ही सीएलजी सदस्यों और इंटेलीजेंस के जरिए बंद पर नजर रखी जा रही है। पूरी मॉनिटरिंग स्पेशल डीजी लॉ एंड आर्डन एनआरके रेड्डी कर रहे हैं।

 

दस से ज्यादा जिलों में तैनात है बटालियन
बंद को देखते हुए शहर के उन दस जिलों में एसटीएफ और आरएसी की बटालियन तैनात की गई है। इन जिलों में करौली, जोधपुर, बांरा, उदयपुर, भरतपुर, धौलपुर, दौसा जैसे जिले शामिल हैं। इन जिलों में से कुछ जिलों में तो बुधवार शाम पुलिस ने फ्लैग मार्च भी निकाला है। बंद समर्थकों से बातचीत, कुछ को लिया हिरासत में बंद के दौरान किसी भी तरह की उग्र घटना नहीं हो इसके लिए पुलिस ने भी सावधानी बरतते हुए बंद का समर्थन करने वाले कुछ संगठनों के पदाधिकारियों को हिरासत में लिया है। आज सवेरे जयपुर से पाराशर नारायण शर्मा को वैशाली नगर पुलिस ने हिरासत में लिया। शर्मा समता आंदोलन के संयोजक हैं। शर्मा के अलावा कई पदाधिकारियों को घर में ही नजरबंद किया गया है।

 

अजमेर में बंद कराई गई शिक्षण संस्थाएं और दुकाने
एसटी-एससी मामलों में पुलिस द्वारा बिना जांच गिरफ्तारी गिरफ्तारी पर रोक लगाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद, केंद्र सरकार की ओर से इसे फिर से लागू करने के लिए कानून बनाने के विरोध में गुरुवार को अजमेर बंद रहा। लोगों का कहना था कि सरकार ऐसा कानून लागू करके सामान्य वर्ग पर कुठाराघात कर रही है और वोट बैंक के कारण एक सामान्य मामले पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को पलट रही है और इसे राजनीतिक चश्मे से देख रही है उधर बंद समर्थक सुबह सुबह टोली बनाकर सडक़ों पर निकले उन्होंने जिन व्यापारियों ने दुकानें खुली रख रखी थी उन्हें बंद कराया सडक़ पर जो टेंपो और जन परिवहन की गाडिय़ां चलती दिखी उन्हें रुकवा कर खाली कराया नगरा क्षेत्र में मिठाई की दुकान को समर्थकों ने बंद कराया वही शहर के सभी स्कूल सरकारी व गैर सरकारी इस दौरान बंद रहे कुछ एक स्कूल जो खुले थे उन्हें बंद समर्थकों ने बंद करा दिया।

 

दौसा में भारत बंद के दौरान पीएम मोदी और अमित शाह के खिलाफ नारेबाजी
भारत बंद का दौसा में व्यापक असर देखने को मिल रहा है। दौसा के नेहरू गार्डन में भारी संख्या में सवर्ण समाज के युवा एकत्रित होकर रैली के रूप में शहर में निकल रहे है। पीएम व अमित शाह के खिलाफ लोग नारेबाजी करत दिखे। इधर बंद और रैली को देखते हुए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। भारी संख्या में पुलिस जाब्ता शहर में तैनात किया गया है। आरएसी की दो कंपनियां भी दौसा शहर में तैनात की गई है। इधर हालात पर नजर रखने के लिए जिला कलेक्टर नरेश शर्मा और पुलिस अधीक्षक चूनाराम जाट भी पल पल की अपडेट ले रहे हैं। एसपी ने नेहरू गार्डन पहुंचकर निरीक्षण किया। एससी एसटी एक्ट में हुए संशोधन के खिलाफ समाज के लोगों ने प्रधानमंत्री, अमित शाह व मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

 

हाड़़ौती में भी दिख रहा बंद का असर
हाड़़ौती में भी आज बाजार बंद रहे। बंद का असर सुबह से ही देखने को मिला। कोटा शहर में बाजारों से लेकर सरकारी दफ्तरों में भी सन्नाटा है। सवर्ण समाज के चतुर्थ कर्मचारी से लेकर उच्चाधिकारियों तक सामूहिक अवकाश पर हैं। नगर निगम में सभी कर्मचारी संगठनों ने सामूहिक अवकाश का प्रार्थना पत्र आयुक्त को सौंपा दिया है। व्यापार संघों ने बाजार बंद करने का ऐलान कर दिया है। कोटा में समता आंदोलन के बैनर तले आज सवर्ण समाज के कर्मचारीए अधिकारीए सामाजिक संगठनों के पदाधिकारीए व्यापार संघों से सदस्य सीएडी सर्किल पर एकत्र हुए। यहां से रैली के रूप में कलक्ट्री पहुंचेंगे और प्रदर्शन कर सभा करेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned