अधिकारी को हटाने के लिए नेताजी चढ़े मोबाइल टावर पर, देखें वीडियो

पालिका ईओ को हटाने और जनसमस्याओं को लेकर जहाजपुर भाजपा नगर अध्यक्ष मोबाइल टावर पर चढ़ा, पालिका में अधिकांश रिक्त पद भरने समेत कई मांग, भाजपा कार्यकर्ताओं का टावर के नीचे धरने पर बैठकर प्रदर्शन

By: pushpendra shekhawat

Published: 22 Sep 2021, 09:05 PM IST

जयपुर। जहाजपुर कस्बे की विभिन्न जनसमस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर भाजपा नगर अध्यक्ष एवं पार्षद पति भैरूलाल टांक बुधवार दोपहर बस स्टैण्ड के निकट मोबाइल टावर पर चढ़ गए। वे जहाजपुर नगर पालिका के अधिशाषी अभियंता को हटाने, पालिका में रिक्त कर्मचारियों को लगाने समेत कई मांग कर रहे है।

घटनाक्रम पता चलने पर टांक के समर्थन में भाजपा कार्यकर्ता व अन्य पदाधिकारी भी टावर के नीचे धरने पर बैठ गए। सूचना पर विधायक गोपीचंद मीणा भी वहां आ गए और धरना स्थल पर बैठ गए। रात तक भाजपा नगर अध्यक्ष टांक टावर पर चढ़े हुए थे। पुलिस व प्रशासन के अधिकारी समझाइश में लगे हुए थे।

भाजपा के पूर्व नगर अध्यक्ष राजीव कांटिया ने आरोप लगाया कि नगर पालिका में अधिशासी अधिकारी सुरेंद्र मीणा लम्बे समय से राजनीतिक प्रभाव में आकर नगर पालिका में नहीं आ रहे। इससे जहाजपुर का विकास कार्य प्रभावित हो रहा है। ईओ को हटाने की मांग पर भाजपा नगर अध्यक्ष भैरूलाल टांक दोपहर पौने दो बजे बस स्टैण्ड स्थित निजी मोबाइल कम्पनी के टावर पर चढ़ गए और प्रदर्शन करने लगे। सूचना पर पहुंचे अधिकारियों ने टांक को समझाने का प्रयास किया। टांक ने मांगे नहीं मानने तक टावर से उतरने से मना कर दिया। उनका कहना था कि ज्यादा जोर-जबर्दस्ती की गई तो वे टावर से नीचे कूद जाएंगे।

भाजपाई टांक के समर्थन पर धरने पर बैठे
टांक के टावर पर चढऩे की सूचना पर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता व अन्य पदाधिकारी समर्थन में पालिका के पीछे नेहरू उद्यान में टावर के समीप धरने पर बैठ गए। नगर अध्यक्ष नरेश मीणा ने बताया कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाएगी तब तक टांक टावर से नीचे नहीं उतरेंगे। भाजपा के सभी कार्यकर्ता उनके समर्थन में धरने पर बैठे रहेंगे। इसका पता चलने पर विधायक गोपीचंद मीणा भी वहां पहुंचे और धरने में शामिल हुए।

bjp leader
pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned