जयपुर में स्पेशल कोर्ट और ट्रिब्यूनल का दो जजशिप में बंटवारा

(Rajasthan Highcourt) हाईकोर्ट ने (Jaipur) जयपुर में दो जजशिप स्थापित होने के बाद दोनों जजशिप में जयपुर स्थित (Special courts and Tribunals) स्पेशल कोर्ट और ट्रिब्यूनल का (bifurcation) बंटवारा कर दिया है। जयपुर जिले में अब तक दो डीजे जयपुर महानगर और जयपुर जिला,लेकिन अब सरकार ने जयपुर महानगर न्यायक्षेत्र को जयपुर प्रथम और जयपुर द्वितीय में बांट दिया है।

By: Mukesh Sharma

Published: 26 Jun 2020, 06:12 PM IST

जयपुर
(Rajasthan Highcourt) हाईकोर्ट ने (Jaipur) जयपुर में दो जजशिप स्थापित होने के बाद दोनों जजशिप में जयपुर स्थित (Special courts and Tribunals) स्पेशल कोर्ट और ट्रिब्यूनल का (bifurcation) बंटवारा कर दिया है। जयपुर जिले में अब तक दो डीजे (Jaipur Metro) जयपुर महानगर और (Jaipur distt) जयपुर जिला,लेकिन अब सरकार ने (Jaipur Metro juridction) जयपुर महानगर न्यायक्षेत्र को भी (Jaiour-1) जयपुर प्रथम और (Jaipur-2) जयपुर द्वितीय में बांट दिया है।
जयपुर मेट्रोपोलिटन जयपुर प्रथम.....
.सीबीआई स्पेशल कोर्ट नंबर एक से लेकर 5 तक
.फैमिली कोर्ट नंबर एक और तीन
.स्पेशल कोर्ट(साप्रंदायिक दंगा केस)
.स्पेशल कोर्ट (एनडीपीएस)
.ग्राम न्यायालय बस्सी
.किशोर न्याय बोर्ड—प्रथम जयपुर
.मोटर वाहन क्लेम ट्रिब्यूनल नंबर—2 जयपुर
.राजस्थान गैर सरकारी शैक्षणिक संस्थान ट्रिब्यूनल
.राजस्थान स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट
.वक्फ ट्रिब्यूनल
.को—आॅपरेटिव ट्रिब्यूनल
जयपुर मेट्रोपोलिटन जयपुर—द्वितीय......
.स्पेशल जज (सती निवारण केस)
.एसीबी कोर्ट नंबर—एक से लेकर तीन
.स्पेशल जज अत्यावश्यक वस्तुएं कानून कोर्ट
.स्पेशल जज(राजस्थान स्पेशल कोर्ट एक्ट 2012)
.स्पेशल कोर्ट जयपुर बम विस्फोट केस
.कर्मिशयल कोर्ट नंबर एक से लेकर 4 तक
.मोटर वाहन क्लेम ट्रिब्यूनल नंबर—एक
.लेबर कोर्ट नंबर एक और दो जयपुर
.इंडस्ट्रीयल ट्रिब्यूनल जयपुर
.जेडीए ट्रिब्यूनल जयपुर
जयपुर जिला व सत्र न्यायाधीश जयपुर जिला.....
.फैमिली कोर्ट नंबर 2
.किशोर न्याय बोर्ड नंबर दो जयपुर
यह भी किया—
इसके साथ ही राज्य सरकार ने हाईकोर्ट की सहमति से बिजली संबंधी अपराधों की सुनवाई के लिए भी कोर्ट तय कर दिए हैं। अब एडीजे नंबर एक जयपुर मेट्रो—प्रथम के दायरे में और एडीजे नंबर—एक जयपुर मेट्रो—द्वितीय के दायरे में आने वाले बिजली संबंधी अपराधों की सुनवाई करेगें।
किराया अधिकरण—
सरकार ने वर्तमान में कार्यरत किराया अधिकरण जयपुर का नाम बदलकर किराया अधिकरण जयपुर मेट्रो—द्वितीय कर दिया है। इसके साथ ही किराया कानून के तहत सुनवाई करने के लिए तीन कोर्ट किराया अधिकरण के रुप में तय कर दी हैं। आदेश के अनुसार किराया अधिकरण—एक जयपुर महानगर के तौर पर एसीएमएम—प्रथम जयपुर मेट्रो—प्रथम जयपुर मेट्रो—प्रथम और एसीएमएम—5 जयपुर मेट्रो—प्रथम को किराया अधिकरण—2 के तौर पर जयुपर मेट्रो—प्रथम के तहत आने वाले मामलों की और किराया अधिकरण जयपुर मेट्रो—द्वितीय जयुपर मेट्रो—के तहत आने वाले नगरपालिका क्षेत्र के मुकदमों की सुनवाई करेगें। इसी प्रकार सरकार ने अपील किराया अधिकरण का नाम बदलकर अपील किराया अधिकरण जयपुर महानगर—प्रथम कर दिया है और जिला व सेशन न्यायालय जयपुर महानगर—द्वितीय को भी अपील किराया अधिकरण जयपुर महानगर—द्वितीय के रुप में गठित किया है। अपील किराया अधिकरण प्रथम जयपुर महानगर—प्रथम के न्याय क्षेत्र में आने वाले और अपील किराया अधिकरण जयपुर महानगर—द्वितीय जयपुर महानगर—द्वितीय के न्याय क्षेत्र में आने वाले नगरपालिका क्षेत्र के मामलों की सुनवाई करेेगें।

Mukesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned