सावधानः जरा सी लापरवाही... रात तीन बजे जोरदार धमाका और तीन लोगों की दर्दनाक मौत.. बच्चे गंभीर घायल

कुछ महीनों पहले सीकर में भी इसी तरह के हादसे में परिवार के कई लोगों की मौत हो गई थी। साथ ही कई लोग गंभीर रुप से घायल हो गए थे। जयपुर और अजमेर में भी इस तरह के धमाकों के बाद लोगों की मौतें हो चुकी है।

By: JAYANT SHARMA

Published: 19 Mar 2021, 11:28 AM IST

जयपुर
जरा सी लापरवाही ने परिवार के तीन लोगों की जान ले ली और चार अन्य को जीवन भर का गम दे दिया। रात के सोने से पहले सलेंडर का रेग्यूलेटर बंद करना भूले तो देर रात तीन बजे गैस लीकेज से धमाका हो गया। हादसा चित्तौडगढ़ जिले के प्रताप नगर क्षेत्र का है। पुलिस ने बताया कि गुरुद्वारा के नजदीक रहने वाले परिवार में यह वाक्या हुआ। देर रात हुए धमाके में दो महिलाओं समेत तीन की मौत हो गईं।

पुलिस ने बताया कि बुजुर्ग मांए बेटे और बहू की सलेंडर धमाका होने के बाद मौत हो गई। शवों के चीथड़े तक हो गए। धमाके के बाद मकान की पट्टियां और दीवारें टूटकर नीचे आ गिरी। जिससे परिवार के अन्य लोग गंभीर घायल हो गए। पुलिस ने बताया तीन लोगों की मौत के साथ ही परिवार में एक पुरुष समेत तीन अन्य बच्चे गंभीर घायल हुए हैं। लोगों ने उनको जैसे.तैसे बाहर निकाला और देर रात ही उनको उदयपुर के लिए रेफर कर दिया। स्थानीय लोगों ने बताया कि हादसा और बड़ा हो सकता था। दरअसल पिछले सप्ताह ही यहां किराये पर रहने वाले सात सदस्यों का एक परिवार मकान खाली कर गया था।

अगले किरायेदार कुछ दिन में आने वाले थे। इससे पहले इस तरह के हादसे प्रदेश के अन्य शहरों में भी हो चुके हैं। कुछ महीनों पहले सीकर में भी इसी तरह के हादसे में परिवार के कई लोगों की मौत हो गई थी। साथ ही कई लोग गंभीर रुप से घायल हो गए थे।

जयपुर और अजमेर में भी इस तरह के धमाकों के बाद लोगों की मौतें हो चुकी है। विशेषज्ञों का कहना है कि जब गैस सलेंडर काम नहीं आए तो उसके रेग्यूलेटर को आॅफ किया जाना चाहिए। खास तौर पर रात के समय। ऐसा करने से इस तरह के हादसों से बचा जा सकता है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned