जयपुर में पांच चीनी नागरिकों के बारे में अब सामने आई ये बड़ी बात, आसपास का इलाका किया गया सेनेटाइज

राजधानी जयपुर में माणक चौक पुलिस के हाथ लगे पांच चीनी नागरिकों के बारे में अहम जानकारियां सामने आई हैं। पुलिस ने पड़ताल की तो पता चला कि पांचों नागरिक दो महीने से भी ज्यादा समय से भारत में घुम रहे थे...

By: dinesh

Published: 01 Apr 2020, 09:49 AM IST

जयपुर। राजधानी जयपुर में माणक चौक पुलिस के हाथ लगे पांच चीनी नागरिकों के बारे में अहम जानकारियां सामने आई हैं। पुलिस ने पड़ताल की तो पता चला कि पांचों नागरिक दो महीने से भी ज्यादा समय से भारत में घुम रहे थे। पूछताछ में पता चला है कि पांचों वुहान से करीब 500 किलोमीटर दूर के रहने वाले हैं। वे हेनन प्रांत के बताए जा रहे हैं। फिलहाल उनमें संक्रमण के कोई लक्षण नहीं दिख रहे है। इनके खाने-पीने की व्यवस्था करने के लिए एक नेपाली युवक भी यहां रह रहा था। गौरतलब है कि परकोटे में डोर टू डोर सर्वे किया जा रहा है। इस दौरान पुलिस को कंवर नगर के राजामल तालाब स्थित एक मकान में इनके मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई।


दो सप्ताह से रह रहे थे जयपुर में
पड़ताल में सामने आय कि वे 26 जनवरी के बाद भारत पहुंचे थे और दिल्ली में काफी दिन रहे और वहीं घुमते रहे। उसके बाद राजस्थान आए और यहां पर पहले उदयपुर और फिर जोधपुर में भी कुछ समय रहे। उसके बाद मार्च के महीने में जैसे—जैसे देश में सख्ती बढ़ती रही उनका वापस चीन लौटना मुश्किल होता गया। वे करीब दो सप्ताह से जयपुर में रह रहे थे। जिस मकान में वे लोग रह रहे थे वह उनके किसी परिचित का था। मकान मालिक ने इस बारे में पुलिस को नहीं बताया था और न ही आसपास रहने वाले किसी व्यक्ति ने ही इस बारे में पुलिस को सूचना दी थी। माणक चौक एसएचओ जितेन्द्र सिंह ने बताया कि वे दो सप्ताह से यहां रह रहे थे लेकिन किसी ने इस बारे में पुलिस को सूचना नहीं दी। इस पर भी कार्रवाई की तैयारी है। पांचों में फिलहाल किसी तरह के लक्षण नहीं मिले हैं। लेकिन उसकी जांच की गई है। उनकी फिर से कुछ दिन के बाद जांच की जाएगी।

आसपास का इलाका सेनेटाइज
चरक भवन में सभी चाइनीज और नेपाली युवक की मेडिकल जांच करवाई। इसके बाद सभी को 14 दिन के लिए गेस्ट हाउस में होमआइसोलेशन में रखा है। मेडिकल टीम के साथ इन सबकी पुलिस निगरानी रखे हुए है। कंवर नगर के राजामल तालाब स्थित एक मकान में इनके मिलने के बाद उनके मकान और आसपास के इलाके में सेनेटाइज किया गया। जांच के बाद उनकों मकान में ही क्वारन्टाइन रहने के निर्देश देकर घर में छोड़ दिया गया। वहीं पुलिस और मेडिकल विभाग को इनकी निगरानी रखने के निर्देश दिए गए है।

dinesh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned