1 लाख संविदाकर्मियों को सरकार देने जा रही ये बड़ा तोहफा

1 लाख संविदाकर्मियों को सरकार देने जा रही ये बड़ा तोहफा
1 लाख संविदाकर्मियों को सरकार देने जा रही ये बड़ा तोहफा

PUNEET SHARMA | Updated: 07 Sep 2019, 08:28:14 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

1 लाख संविदाकर्मियों को सरकार देने जा रही ये बड़ा तोहफा

जयपुर। विधान सभा चुनाव से पहले घोषणा पत्र में प्रदेश में तैनात 1 लाख से ज्यादा संविदाकर्मियों को राज्य सरकार जल्द ही बड़ा तोहफा दे सकती है। सरकार के उच्च पदस्थ सूत्रों की माने तो तीन दिन जलदाय मंत्री डॉ बीडी कल्ला की अध्यक्षता में संविदाकर्मियों की मांगों को लेकर बैठक में गंभीरता से विचार किया गया। मंत्रीमंडलीय सब कमेटी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि सरकार संविदाकर्मियों को दीपावली से पहले प्रदेश में वर्षों से तैनात संविदाकर्मियों को सरकार बड़ा तोहफा दे सकती है।


मौजूदा समय में सरकार जबरदस्त वित्तीय संकट से जूझ रही है। योजनाओं के लिए बजट जुटाना तो दूर सरकार कई विभागों में समय पर वेतन तक नहीं दे पा रही है। ऐसे में सरकार के लिए प्रदेश में विभिन्न विभागों में तैनात 1 लाख से ज्यादा संविदाकर्मियों को नियमित करने जैसा फैसला सरकार के लिए आसान नहीं होगा। संविदाकर्मियों की मांगों पर विचार करने के लिए गठित मंत्रिमंडलीय सब कमेटी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि बैठक में दो बिंदुओं पर गंभीरता से विचार किया गया। पहला तो संविदा पर तैनात कार्मिकों के वेतन 3 से 4 हजार की बढ़ोतरी की जाए। जिससे सरकार के उपर एक साथ वित्तीय भार नहीं आए। दूसरा कई चरणों में इन संविदा कर्मियों को नियमित करने की प्रक्रिया शुरू की जाए।

सूत्रों की माने तो केबिनेट सब कमेटी जल्द ही इन दोनों बिंदुओं पर मिले सुझावों से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अवगत कराएगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आर्थिक संकट से बचने के लिए कार्मिकों के वेतन में 3 से 4 हजार रुपए की बढोतरी कर सकते है। अभी मौजूदा समय में संविदार्कियों को प्रतिमाह 7 से 8 हजार रुपए मासिक वेतन दिया जा रहा है। जानकारी के अनुसार प्रदेश में संचालित महानरेगा योजना में ही 60 हजार से ज्यादा संविदाकर्मी कार्यरत है. इसके अलावा प्रदेश में करीब 24 हजार विद्यार्थी मित्र, 27 हजार पंचायत सहायक, 2400 लोक जुंबिश, 7500 मदरसा, 7500 पैराटीचर, एनआरएचएम कर्मी 4500, 17500 प्रेरक, 4500 कंप्यूटर कर्मी, 1500 फार्मासिस्ट, जनता जल योजना 10 हजार संविदाकर्मी कार्यरत है.

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned