जैवविविधता पर रिसर्च के लिए मिलेगी छात्रवृत्ति

Bio Diversity : राज्य में बायो डायवर्सिटी यानि जैव विविधता पर शोध करने वाले छात्रों को अब छात्रवृत्ति मिलेगी।

जयपुर
Bio Diversity : राज्य में बायो डायवर्सिटी यानि जैव विविधता पर शोध करने वाले छात्रों को अब छात्रवृत्ति मिलेगी। विज्ञान प्रौद्योगिकी की वेबसाइट पर शीघ्र ही ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी। इस रिसर्च के पीछे मकसद यह है कि विश्व में जैव विविधता में परिवर्तन हो रहा है। राज्य में भी जैव विविधता को संरक्षित करने के लिए इस ओर शोध की महत्ती आवश्यकता है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं राजस्थान राज्य जैव विविधता बोर्ड के अध्यक्ष जी.वी. रेड्डी ने गुरूवार को बताया कि राजस्थान राज्य जैव विविधता बोर्ड, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में राज्य के सामाजिक विज्ञान (इतिहास, भूगोल, राजनीति विज्ञान,पर्यावरण इत्यादि) में एमए तथा एमएससी करने वाले छात्रों को बायो डायवर्सिटी में शोध करने पर 15 हजार रुपए की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।
इसलिए जरूरी है रिसर्च
शासन सचिव, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मुग्धा सिन्हा ने बताया कि विश्व में जैव विविधता में परिवर्तन हो रहा है तथा राज्य में भी जैव विविधता को संरक्षित करने के लिए इस ओर शोध की महत्ती आवश्यकता है। ऐसे में राज्य के योग्य विद्यार्थियों को उचित प्लेटफार्म मिल सके, इसके लिए जैव विविधता में शोध के लिए छात्रवृत्ति देने के लिए उपमु़ख्यमंत्री सचिन पायलट एवं वन व पर्यावरण राज्य मंत्री सुखराम विश्नोई की मंजूरी प्रदान कर दी है।
करने होंगे आॅनलाइन आवेदन
सिन्हा ने बताया कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से जल्द ही ही विभागीय वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन विद्यार्थियों से आमंत्रित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जैव विविधता पर शोध का समय 6 माह का होगा। विद्यार्थियों से ऑनलाइन आवेदन के बाद जैव विविधता बोर्ड एवं विभाग की ओर से योग्य विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। शोधार्थियों को यूजीसी के मापदण्डो के अनुसार शोध कार्य करना होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned