scriptBio marker test tell health condition of lungs | बायो मार्कर बताएगा आपके फेफड़े में है कितना दम | Patrika News

बायो मार्कर बताएगा आपके फेफड़े में है कितना दम

कोरोना हो या फिर टीवी। सिलिकोसिस हो या फिर फेफड़े की अन्य कोई बीमारी। अब महज एक बायो मार्कर से चंद मिनट में आपके फेफड़े का हाल पता चल जाएगा। यह टेस्ट बता देगा कि आपका फेफड़ा कितना सेहतमंद और कितना कारगर है। कोरोना के बाद फेफड़े की बीमारी बहुतायत में देखने को मिल रही है। अभी भी लोग इसके प्रभाव से उबर नहीं पा रहे हैं।

जयपुर

Published: April 30, 2022 08:13:52 pm

जोधपुर.

कोरोना हो या फिर टीवी। सिलिकोसिस हो या फिर फेफड़े की अन्य कोई बीमारी। अब महज एक बायो मार्कर से चंद मिनट में आपके फेफड़े का हाल पता चल जाएगा। यह टेस्ट बता देगा कि आपका फेफड़ा कितना सेहतमंद और कितना कारगर है। कोरोना के बाद फेफड़े की बीमारी बहुतायत में देखने को मिल रही है। अभी भी लोग इसके प्रभाव से उबर नहीं पा रहे हैं।
ऐसे में तेजी से लोंगों के फेफड़ों पर पड़ रहे दुष्प्रभाव का पता लगाने के लिए भारतीय स्वास्थ्य अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अंतर्गत आने वाले नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ऑक्यूपेशनल हैल्थ (एनआईओएच) ने ऐसा बायो मार्कर कार्ड विकसित किया है, जो चंद मिनटों में इंसान के फेफड़ों की सेहत बता देगा। बड़ी बात यह है कि इसके प्रयोग के लिए आईसीएमआर ने मंजूरी दे दी है।
photo1651329515.jpeg
Bio marker test tell health condition of lungs
सीरम प्रोटीन से पता चलता है फेफड़ों का हाल
एनआईओएच अहमदाबाद के वैज्ञानिकों ने इन हालात के मद्देनजर लबे अनुसंधान में पाया कि फेफड़ों की कोशिकाओं में मौजूद सीसी 16 नामक एक सीरम प्रोटीन फेफड़ों की सटीक स्थिति बता सकता है। इस आधार पर विशेष किट बनाया गया। इसमें कार्ड स्ट्रिप पर खून की एक बूंद रखकर ही सीसी 16 प्रोटीन सीरम से फेफड़ों का स्वास्थ्य जांचा जा सकता है।
सीरम सीसी-16 अगर 16 से कम तो समझो निकल गया फेफड़ों का दम
एनआईओएच में विकसित कार्ड स्ट्रिप पर खून की एक बूंद रखने से यह फेफड़ों में सीरम सीसी-16 का लेवल बता देता है। सामान्य शरीर में यह लेवल 16 नैनोग्राम प्रति मिलीग्राम होना चाहिए। यह मात्रा 9 और 12 नैनोग्राम/एमएल हो तो फिर इसे अदृश्य सिलिकोसिस या शुरुआती चरण मानकर इलाज शुरू किया जा सकता है। इससे टीबी का भी शुरुआत में ही पता चल सकता है। इस किट के बारे में दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों से भी क्वेरी आनी शुरू हो चुकी है।
जल्द होगी बाजार में उपलब्ध
इस किट का उत्पादन और विपणन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। जल्द ही यह विशेष किट उपयोग के लिए उपलब्ध हो जाएगा। इसकी मदद से हर साल ही हजारों पत्थर मजदूरों की जान लेने वाली लाइलाज सिलिकोसिस ही नहीं, टीबी जैसी बीमारी पर भी प्रभावी अंकुश लग सकेगा, क्योंकि विशेष किट की मदद से ये बीमारियां शुरू में ही पकड़ में आ सकेगी।
दो कंपनियों को लाइसेंस
एनआईओएच की खोज के बाद आईसीएमआर ने दो कम्पनियों को उत्पादन का लाइसेंस दिया है। संभवतः अगले कुछ दिनों में उत्पाद की वेलिडेशन रिपोर्ट को ड्रग कंट्रोलर से मान्यता के साथ ही इसका व्यावसायिक उत्पादन शुरू किया जा सकेगा। इसके बाद यह बाजार में चिकित्सा प्रयोग के लिए उपलब्ध हो जाएगा।
सिलिकोसिस ले रही जान
देश में लगभग तीस लाख मजदूर खनन और पत्थर उद्योग में लगे हैं। इनमें धूलकणों के कारण फेफड़े खोखले कर देने वाली सिलिकोसिस जैसी जानलेवा बीमारी की चपेट में आने की आशंका बनी रहती है। राजस्थान में ही जोधपुर, करौली, सिरोही, नागौर व भरतपुर जैसे जिले इस बीमारी से सर्वाधिक प्रभावित हैं। प्रदेश में पिछले तीन साल में 15 हजार से ज्यादा मजदूरों की मौत हो चुकी है।
खून की एक बूंद बताएगी हाल

एनआईओएच के निदेशक डॉ. कमलेश सरकार बताते हैं कि सिलिकोसिस का पता जब तक एक्स-रे से पता चलता है, तब तक पीड़ित श्रमिक के फेफड़े पूरी तरह खराब हो चुके होते हैं। ऐसे श्रमिक सांस नहीं ले पाते और कुछ अरसे बाद तड़प-तड़प कर इनकी मौत हो जाती है। दुनिया में कहीं भी इस बीमारी का इलाज नहीं है, लेकिन शुरुआत में पकड़ में आ जाए तो फेफड़े पूरी तरह खराब होने से रोके जा सकते हैं।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी राजस्थान पत्रिका में राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

ममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआरUP Budget 2022 : देश में पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट और पांच एटीएस वाला यूपी पहला राज्य, होंगी ये बड़ी सुविधाएंराष्ट्रीय खेल घोटाला: CBI ने झारखंड के पूर्व खेल मंत्री के आवास पर मारा छापाIRCTC 21 जून से शुरू करेगी श्री रामायण यात्रा स्पेशल ट्रेन, जानिए इस यात्रा से जुड़ी सभी जानकारीIPL में MS Dhoni, Rohit Sharma, Virat Kohli हुए 150 करोड़ के पार, कमाई जानकर आप हो जाएंगे हैरानइधर भी महंगाई: परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.