scriptBiology: You can also choose these career options after 12th... | NEET 2022 बायोलॉजी: 12वीं के बाद ये कॅरियर ऑप्शन भी चुन सकते हैं... | Patrika News

NEET 2022 बायोलॉजी: 12वीं के बाद ये कॅरियर ऑप्शन भी चुन सकते हैं...

बायोलॉजी के स्टूडेंट्स 12वीं के बाद नीट की परीक्षा में शामिल होते हैं। यह भी एक बेहतर विकल्प है, लेकिन कई ऐसे ऑप्शन भी हैं जिन पर गौर किया जा सकता है। बायोलॉजी से जुड़ी कई ऐसे फील्ड हैं, जिनमें कैंडिडेट्स की डिमांड बढ़ रही हैं। जानिए, बायोलॉजी के स्टूडेंट्स के पास 12वीं के बाद क्या विकल्प मौजूद हैं...

जयपुर

Published: June 18, 2022 11:36:35 pm

बायोलॉजी के स्टूडेंट्स 12वीं के बाद नीट की परीक्षा में शामिल होते हैं। यह भी एक बेहतर विकल्प है, लेकिन कई ऐसे ऑप्शन भी हैं जिन पर गौर किया जा सकता है। बायोलॉजी से जुड़ी कई ऐसे फील्ड हैं, जिनमें कैंडिडेट्स की डिमांड बढ़ रही हैं। जानिए, बायोलॉजी के स्टूडेंट्स के पास 12वीं के बाद क्या विकल्प मौजूद हैं...
medical, medical course, pharmcy, engineering course, education news in hindi, education, RCB, M.Pharma, Chemistry, Biology, MBBS, M.Sc., Career Courses
medical, medical course, pharmcy, engineering course, education news in hindi, education, RCB, M.Pharma, Chemistry, Biology, MBBS, M.Sc., Career Courses
1. माइक्रोबायोलॉजी
माइक्रोबायोलॉजी के तहत सूक्ष्मजीवों की स्टडी की जाती है। तकनीक और इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप के कारण यह फील्ड पहले से बेहतर हुआ है। माइक्रोबायोलॉजी की खास बात यह भी है कि इस विषय के जरिए कॅरियर के लिए कई ऑप्शन मिलते हैं। जैसे-
इम्युनोलॉजिस्ट: एक इम्युनोलॉजिस्ट शरीर में रोगों से लड़ने वाले इम्यून सिस्टम की स्टडी करता है और उसके मुताबिक वैक्सीन को तैयार करने में मदद करता है।

वायरोलॉजिस्ट: माइक्रोबायोलॉजी की स्टडी करने के बाद एक वायरस विशेषज्ञ बनने की राह खुल जाती है। नई बीमारियों के पनपने के साथ वायरोलॉजिस्ट की डिमांड बढ़ रही है।
फूड साइंटिस्ट: खाने की सुरक्षा, क्वालिटी और फूड प्रोडक्ट की प्रोसेसिंग में एक फूड साइंटिस्ट की अहम भूमिका होती है। फूड की क्वालिटी को मेंटेन करने में फूड साइंटिस्ट मदद करते हैं।

2. ईकोलॉजी
सा इंस स्ट्रीम से जुड़ा यह ऐसा कॅरियर ऑप्शन है, जिसके बारे में कैंडिडेट्स कम दिलचस्पी दिखाते हैं। एक ईकोलॉजिस्ट का काम ईकोसिस्टम में बायोडाइवर्सिटी को जानना और पर्यावरण पर इनके असर को समझना है। एक ईकोलॉजिस्ट के पास कई विकल्प होते हैं, जैसे-
एयर क्वालिटी इंजीनियर: अलग-अलग तरीकों और डिवाइस की मदद से वायु प्रदूषण का पता लगाना और इस पर नजर बनाए रखना भी एयर क्वालिटी इंजीनियर का ही काम है।

फोरेस्टर: जंगल और अधिक लकड़ी वाले क्षेत्रों की देखरेख करने की जिम्मेदारी एक फोरेस्टर की होती है। इसके अलावा इनकी सुरक्षा, विकास और संरक्षण का काम एक फोरेस्टर के जिम्मे होता है।
लैंडस्केप आर्किटेक्ट: ऐसे इंफ्रास्ट्रक्चर की प्लानिंग करना जो प्राकृतिक पर्यावरण को बढ़ावा दे सके, यह काम एक लैंडस्केप आर्किटेक्ट का होता है।

3. बॉटनी में कॅरियर

बॉ टनी के तहत पौधों का अध्ययन किया जाता है। इस विषय से पढ़ाई करके कई कॅरियर ऑप्शंस के लिए रास्ते खुल जाते हैं। जैसे-
आर्बोरिस्ट: इसके तहत पेड़-पौधों और झाड़ियों की पैदावार पर नजर रखी जाती है और स्टडी की जाती है।

फ्लोरिस्ट: फूलों की खेती करना, इन्हें व्यवस्थित रखना और बेचना एक फ्लोरिस्ट का काम होता है।
फार्म मैनेजर: बॉटनी से स्टडी के बाद एक फार्म मैनेजर की तरह भी काम कर सकते हैं। इनका काम फार्म का सुपरविजन करना है।

4. बायोकेमेस्ट्री

बायोकेमेस्ट्री में पढ़ाई करने के बाद कॅरियर के ये विकल्प मिलते हैं-
फॉरेंसिक बायोलॉजिस्ट: डीएनए की जांच करना और क्रिमिनल इंवेस्टिगेशन में मदद करना एक फॉरेंसिक बायोलॉजिस्ट का काम है।

एंडोक्राइनोलॉजिस्ट: हार्मोंस व इससे जुड़ी बीमारियों को समझना ही एंडोक्राइनोलॉजिस्ट का काम होता है।

5. मरीन बायोलॉजीम रीन बायोलाजी के तहत समुद्री जीवों और वहां के ईकोसिस्टम की स्टडी की जाती है। इस फील्ड में ये ऑप्शन मिलते हैं...
नेचुरल रिसोर्स टेक्निशियन: प्राकृतिक सम्पदाओं की मॉनिटरिंग करना इस विशेषज्ञ का काम होता है।

फिश कल्चरिस्ट: मछलियों की संख्या को बढ़ाना, इनके ट्रांसपोर्ट और डिस्ट्रीब्यूशन पर नजर रखना एक फिश कल्चरिस्ट का काम होता है।
ये याद रखें :

बायोलॉजी में कॅरियर बनाने के लिए इन विकल्पों को चुनतेे समय अपने इंस्ट्रेस्ट को भी ध्यान में रखें और उसके बाद ही किसी फैसले पर पहुंचें। हालांकि, अगर आप कोई भी फैसला नहीं ले पा रहे हैं, तो कॅरियर काउंसलर्स की मदद से आप अपने लिए अच्छा कॅरियर ऑप्शन चुन सकते हैं।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथUddhav Thackeray Resigns: फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने सीएम और MLC पद से दिया इस्तीफा, कहा- मेरी शिवसेना मुझसे कोई नहीं छीन सकताउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपीGST Council Meeting: बैठक के दूसरे दिन राज्यों को झटका, गेमिंग-कसीनों पर नहीं हो सका फैसलाबिहारः मोबाइल फ्लैश की रोशनी में BA की परीक्षा देते दिखे छात्र, गूगल का भी खूब लिया मदद, उठ रहे सवालMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को सौंपा इस्तीफाUdaipur Murder: अनुराग ठाकुर बोले- कांग्रेस की आपसी लड़ाई से राजस्थान में ध्वस्त हुई कानून-व्यवस्था, NIA को जांच मिलने से होगी तेज कार्रवाईMaharashtra Gram Panchayat Election 2022: महाराष्ट्र में इस तारिख को होगा ग्राम पंचायत चुनाव, अगले ही दिन आएंगे नतीजे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.