बीसलपुर डेम के 8 गेट खोले, 120200 क्यूसेक पानी छोड़ा

Anand Prakash Yadav

Updated: 15 Sep 2019, 07:41:41 AM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। प्रदेश से विदा हो रहा मानसून फिर से जमकर मेहरबान हो रहा है। कोटा वागड़ में मूसलाधार बारिश से नदियों में पानी उफान पर आ गया है वहीं गुलाबीनगर की पेयजल लाइफ लाइन बीसलपुर डेम में इस बार पानी की रेकॉर्ड आवक हुई है। डेम से लगातार 28वें दिन भी पानी की निकासी हो रही है वहीं मानसून सीजन में पहली बार डेम के 8 गेट खोलकर प्रति सैकंड एक लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा जा रहा है।
बांध परियोजना अधिकारियों के अनुसार प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़ और भीलवाड़ा में बीते 24 घंटे में हुई भारी बारिश के कारण डेम में पानी की आवक की सहायक नदियां उफान पर बह रही हैं। त्रिवेणी में पानी का बहाव 6.20 मीटर रहने पर बीसलपुर डेम में पानी की बंपर आवक होने के कारण डेम के 8 गेट 2.50 मीटर उंचाई तक खोले गए हैं। इसके साथ ही डेम से प्रति सैकंड 1 लाख 20 हजार 200 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। गौरतलब है कि वर्ष 2016 में ओवरफ्लो होने पर डेम के 18 में से 16 गेट खोले गए वहीं इस बार सीजन में पहली बार डेम के 8 गेट पानी बंपर आवक के चलते खोले गए हैं। जल संसाधन विभाग के अधिशाषी अभियंता रविंद्र कटारा के अनुसार डेम में पानी की आवक तेज होने पर डेम में पानी का दबाव कम करने के लिए आज कुछ और गेट खोले जाने की संभावना है। त्रिवेणी में इस बार सीजन मे दूसरी बार पानी का बहाव 6 मीटर से ज्यादा होने के कारण डेम 28 वें दिन भी छलक रहा है।
बीते अगस्त माह में भी एक बार त्रिवेणी में पानी का बहाव 7.10 मीटर तक रेकॉर्ड हो चुका है वहीं इसके बाद मानसून सुस्त पड़ने पर त्रिवेणी में पानी का बहाव डेढ़ मीटर उंचाई तक भी दर्ज हुआ है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned