राजस्व कमाना जान से प्यारा है तो सरकार शराब की होम डिलीवरी शुरू कर दे — गुलाबचंद कटारिया

नेता प्रतिपक्ष ने शराब बिक्री में सोश्यल डिस्टिेंसिंग की धज्जियां उड़ने पर राजस्थान पत्रिका के उठाए मुदृदे की करी सराहना

 

 

By: Om Prakash Sharma

Published: 05 May 2020, 06:55 PM IST

जयपुर। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि सरकार के लिए राजस्व जान से भी प्यार है तो वह शराब की होम डिलीवरी शुरू करवा दे, लेकिन कोरोना वायरस के दौरान सोश्यल डिस्टिेंसिंग की धज्जियां उड़ने को नजरअंदाज नहीं करे।
मंगलवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पत्रकारों से बात करते हुुए कटारिया ने शराब बिक्री के दौरान सोश्यल डिस्टिेंसिंग की धज्जियां उड़ाए जाने का मुदृदे को उठाने पर राजस्थान पत्रिका की सराहना की। उन्होंने कहा कि होम डिलीवरी से दुकानों के बाहर लोगों का जमावड़ा नहीं होगा और लॉयन आर्डर भी बना रहेगा।

क्या गहलोत ने राहुल को नहीं बताया था

कटारिया ने कहा कि केंद्रीय कर्मचारियों का भत्ते स्थगित करने को राहुल गांधी ने असंवेदनशील बताया था। राजस्थान में मार्च में कर्मचारियों का पैसा काटा गया। क्या गहलोत सरकार ने उन्हें जानकारी नहीं दी थी। गांधी के संसदीय क्षेत्र वाले राज्य केरल में भी पैसे काटे गए। कटारिया ने आरोप लगाया कि तबलीगियों ने पूरे देश का माहौल बिगाड़ दिया है।

कांग्रेस कर रही है राजनीति

कटारिया ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री को विधानसभा में खुद सहयोग का आश्वासन दिया था, लेकिन कांग्रेस राजनीति कर रही है। सरकार बोल रही है केंद्र ने ये नहीं किया केंद्र ने पैसा नहीं दिया। इस वजह से बोलने पर मजबूर होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि वे सरकार से पूछना चाहते हैं कि उन्होंने खुद के फंड से गरीब के खाते में कितना पैसा डाला है गिनकर बता दे। जबकि केंद्र सरकार ने नरेगा, जन धन योजना के अलावा 62 लाख किसानों के खातों में पैसा डाला है। यहां तक की 40 हजार टन गेहूं भी निशुल्क आवंटित किया गया है।

हमारे प्रवासी कब आएंगे, सरकार दे जानकारी

कटारिया ने कहा कि सरकार ये बताए कि अब तक वो कितने प्रवासियों को वापस लाई है और रजिस्टर्ड प्रवासियों को लाने की उनकी क्या योजना है। कटारिया ने दावा किया कि जो ढाई लाख लोग आए हैं, वो अपने दम पर पहुंचे हैं। रतनपुर और सिरोही बॉर्डर पर कई किमी लंबी लाइनें थीं। सरकार केवल अपनी पीठ ठोंक रही है।

BJP
Om Prakash Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned