scriptBJP closed, now Congress government will start power generation! | भाजपा ने किया बंद अब कांग्रेस सरकार शुरू करेगी बिजली उत्पादन! | Patrika News

भाजपा ने किया बंद अब कांग्रेस सरकार शुरू करेगी बिजली उत्पादन!

पिछली भाजपा सरकार में बंद हुए गिरल लिग्नाइट थर्मल पावर प्लांट को कांग्रेस सरकार शुरू करेगी। मुख्यमंत्री के दखल के बाद ऊर्जा विभाग और विद्युत उत्पादन निगम ने इसकी संभावना तलाशना शुरू कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक सीएम ने एक माह में इससे जुड़ी रिपोर्ट मांगी है। इसलिए जल्द ही जयपुर से अफसरों की टीम बाड़मेर स्थित प्लांट पर जाएगी। यहां 250 मेगावाट क्षमता की दो यूनिट है। प्लांट में वर्ष 2016 में अंतिम बार बिजली उत्पादन हुआ था। कारण, बिजली उत्पादन के लिए जो लिग्नाइट उपयोग किया जा रहा था, उसमें सल्फर की मात्रा अधिक होने से प्लांट को बार-बार बंद करना पड़ रहा था।

जयपुर

Published: July 21, 2022 05:16:38 pm

पिछली भाजपा सरकार में बंद हुए गिरल लिग्नाइट थर्मल पावर प्लांट को कांग्रेस सरकार शुरू करेगी। मुख्यमंत्री के दखल के बाद ऊर्जा विभाग और विद्युत उत्पादन निगम ने इसकी संभावना तलाशना शुरू कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक सीएम ने एक माह में इससे जुड़ी रिपोर्ट मांगी है। इसलिए जल्द ही जयपुर से अफसरों की टीम बाड़मेर स्थित प्लांट पर जाएगी। यहां 250 मेगावाट क्षमता की दो यूनिट है। प्लांट में वर्ष 2016 में अंतिम बार बिजली उत्पादन हुआ था। कारण, बिजली उत्पादन के लिए जो लिग्नाइट उपयोग किया जा रहा था, उसमें सल्फर की मात्रा अधिक होने से प्लांट को बार-बार बंद करना पड़ रहा था।

fdafd.jpg

यहां लिग्नाइट के भंडार

प्रदेश में बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर, नागौर, पाली में लिग्नाइट के भंडार हैं।

इसलिए लिग्नाइट पर फोकस

कोयले की लगातार कमी है और केन्द्र सरकार का राज्यों पर विदेश से कोयला आयात करने का दबाव है। इससे आर्थिक भार भी बढ़ रहा है। इसी कारण सरकार का फोकस अब लिग्नाइट पर हो गया है।

गिरल लिग्नाइट थर्मल पावर प्लांट

30 प्रतिशत तक ही बिजली उत्पादन

प्लांट से व्यावसायिक उत्पादन 2008 में शुरू किया गया। राजस्थान विद्युत नियामक आयोग के मानदंड के अनुसार प्लांट की कुल उत्पादन क्षमता के अनुपात में 75 प्रतिशत बिजली उत्पादन नहीं होता है तो उस इकाई को घाटे में माना जाता है। गिरल प्लांट में 2009 से 2016 के बीच 15 से 30 प्रतिशत तक ही बिजली उत्पादन होता रहा।

घाटे की जिम्मेदारी भी हो तय

अब तक 1300 करोड़ से ज्यादा घाटा (संचित नुकसान) हो चुका है। फ्यूल सरचार्ज के नाम पर जनता की जेब से भी करोड़ों वसूल लिए गए। इसके बावजूद किसी की सीधी जिम्मेदारी तय नहीं की गई। 2016 में बंद हुआ था बिजली उत्पादन कोयले की कमी और विदेशी कोयले से आर्थिक भार बढ़ने पर सरकार का लिग्नाइट पर फोकस

फैक्ट फाइल

● प्लांट क्षमता : 125-125 मेगावाट के 2 प्लांट

● प्रोजेक्ट लागत : यूनिट एक- 764 करोड़ और यूनिट दो- 750 करोड़ रुपए

● जमीन : 661.25 बीघा

● विद्युत उत्पादन हुआ : 3211.27 मिलियन यूनिट (2009 से 2016 के बीच)

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तJammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरजगदीप धनखड़ आज लेंगे 14वें उपराष्ट्रपति पद की शपथ, दोपहर 12:30 बजे राष्ट्रपति भवन में होगा समारोहचुनाव में मुफ्त की योजनाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाईMaharashtra: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभाग बंटवारे का इंतजार, गृह और वित्त मंत्रालय पर मंथन जारीबिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोप
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.