भाजपा के धरना प्रदर्शन पर कोरोना इफेक्ट, अब केवल ज्ञापन देंगे नेता

राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों को लेकर भाजपा ने एक बार फिर अपने कार्यक्रम में बदलाव किया है। आने वाली 8 और 10 सितंबर को होने वाले धरना—प्रदर्शन कार्यक्रम को भाजपा ने निरस्त कर दिया है। अब केवल चुनिंदा नेता उपखंड अधिकारी और कलेक्टर को ज्ञापन देंगे।

By: Umesh Sharma

Published: 05 Sep 2020, 06:31 PM IST

जयपुर।

राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों को लेकर भाजपा ने एक बार फिर अपने कार्यक्रम में बदलाव किया है। आने वाली 8 और 10 सितंबर को होने वाले धरना—प्रदर्शन कार्यक्रम को भाजपा ने निरस्त कर दिया है। अब केवल चुनिंदा नेता उपखंड अधिकारी और कलेक्टर को ज्ञापन देंगे।

प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने बताया कि कार्यकम यथावत निर्धारित 8 और 10 सितंबर को होंगे, लेकिन शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर अब केवल ज्ञापन दिया जाएगा। इसमें भी कार्यकर्ताओं की संख्या को सीमित कर दिया गया है। उपखंड स्तर पर होने वाले कार्यक्रम में विधायक, मंडल अध्यक्ष, मंडल महामंत्री, नगरपालिका चेयरमैन और प्रधान के अलावा उस मंडल में रहने वाले प्रदेश पदाधिकारी शामिल होंगे। इसी तरह जिले के सांसद, जिलाध्यक्ष, विधायक, प्रदेश पदाधिकारी, आईटी और मीडिया सैल से जुड़े कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे। आपको बता दें कि पहले यह कार्यक्रम 2 और 4 सितंबर को होने वाला था, लेकिन पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के चलते राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया था, जिसकी वजह से कार्यक्रम की तिथि में बदलाव करते हुए इसे 8 और 10 सितंबर किया गया था।

नेता हो रहे कोरोना पॉजिटिव, इसलिए करना पड़ा बदलाव

प्रदेश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। इसके चलते भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, उपनेता प्रतिपक्ष चंद्रभान आक्या, विधायक अशोक लाहोटी सहित कई भाजपा विधायक और नेता इसकी चपेट में आ गए है। नेताओं पर कोरोना महामारी एक्ट लागू होने के बाद भी भीड़ इकट्ठा करने के आरोप लग रहे थे, जिसके चलते कार्यक्रम में बदलाव किया गया है।

Corona virus COVID-19
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned