आगामी उपचुनावों में जीत के लिए मुख्यमंत्री करवा रही है खुद का सर्वे- बीजेपी इस रणनीति के तहत करेगी काम

आगामी उपचुनावों में जीत के लिए मुख्यमंत्री करवा रही है खुद का सर्वे- बीजेपी इस रणनीति के तहत करेगी काम

Punit Kumar | Publish: Oct, 12 2017 11:01:13 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

सीएम व्यक्तिगत रूप से सर्वे करा रही हैं, जिससे कि चुनाव जीतने योग्य उम्मीदवार को टिकट मिल सके।

प्रदेश में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनावों को लेकर भाजपा और कांग्रेस पूरी तरह जुट गई है। खासकर प्रत्याशियों के चयन को लेकर दोनों ही पार्टियां गहन चिंतन के साथ अपनी रणनीति बनाती दिख रही है। इसी दौरान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी का एक बड़ा बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने यह खुलासा किया है कि इन उपचुनावों को लेकर प्रदेश की सीएम व्यक्तिगत रूप से सर्वे करा रही हैं।

 

 

गुरुवार को कलेक्ट्रेट पर हुए धरना-प्रदर्शन के बाद परनामी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश में होने वाले उप चुनावों को लेकर सीएम व्यक्तिगत रूप से सर्वे करा रही हैं, जिससे कि चुनाव जीतने योग्य उम्मीदवार को टिकट मिल सके। तो वहीं इस संबंध में प्रदेश नेतृत्व भी कार्यकर्ताओं से रायशुमारी करवा रहा है। जिसके बाद सीएम के सर्वे और आम रायशुमारी के आधार पर भी प्रत्याशी का नाम तय होगा, ताकि भाजपा को इस अहम उपचुनाव में जीत हासिल हो सके।

 

 

संवदाताओं से बातचीत के दौरान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने पेट्रोल-डीजल के दामों पर बोलते हुए कहा कि वित्तीय स्थिति को देखने के बाद पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने को लेकर किसी भी तरह का फैसला लिया जाएगा। यह बात उन्होंने एक सवाल के जवाब में दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास के साथ किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं करेगी। प्रदेश का विकास सरकार के लिए महत्वपूर्ण है।

 

 

गौरतलब है कि इन दिनों प्रदेश में एक तरफ लोग पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से परेशान दिख रहे हैं तो वहीं त्यौहारी सीजन में उनका जेब भी इसी वजह से ढ़ीला हो रहा है। जबकि दूसरी ओर प्रदेश में अगले कुछ दिनों बाद उपचुनाव होने वाले हैं। ऐसे में सरकार की यह कोशिश रहेगी कि आम जनता को जितना हो सके इन महंगाई से निजात मिल सके। क्योंकि अगर उन्हें इसी तरह के हालात का सामना लगातार करना पड़ा तो यह प्रदेश सरकार के लिए आने वाले समय में नई चुनौती बन सकती है। जबकि उधर विपक्षी पार्टियां भी राज्य सरकार की इस चूक का फायदा उठाने की कोशिश में लगी हुई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned