जयपुर शहर को दो जिलों में बांटेगी भाजपा!

शहर के नेताओं ने उठाई मांग

By: Jagdish Vijayvergiya

Published: 03 Dec 2019, 01:09 AM IST

जयपुर. भाजपा में जिलाध्यक्षों के चयन की प्रक्रिया के तहत सोमवार को जयपुर संभाग के जिलाध्यक्षों के पैनल बनाने के लिए बैठक हुई। इसमें दौसा, सीकर, अलवर, झुंझुनंू, जयपुर शहर, जयपुर उत्तर और जयपुर दक्षिण को लेकर चर्चा होनी थी लेकिन जयपुर शहर के पैनल पर चर्चा नहीं हो पाई। बैठक में शहर के कुछ नेताओं ने दो नगर निगम की तर्ज पर संगठन में भी जयपुर शहर को दो जिलों में बांटने की मांग उठाई। माना जा रहा है कि अब उच्च स्तर से राय आने के बाद अगली बैठक में इस पर निर्णय हो सकता है।
————————————————————
दो हिस्सों में बंटा है जयपुर ग्रामीण
भाजपा ने जयपुर ग्रामीण को पहले से दो हिस्सों (जयपुर उत्तर और जयपुर दक्षिण) में बांटा हुआ है। जयपुर शहर में दो नगर निगम के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं में भी दो जिले बनाने पर चर्चा शुरू हो गई थी। बैठक में मौजूद कुछ नेताओं ने जोधपुर, नागौर का उदाहरण देते हुए कहा कि जयपुर से छोटे जिले भी संगठन के लिहाज से दो हिस्सों में बांटे गए हैं। जयपुर शहर की जनसंख्या को देखते हुए इसके दो हिस्से किए जाने चाहिए।
————————————————————
जिला व मंडल अध्यक्षों के पैनल पहुंचे!
जयपुर संभाग की बैठक सह प्रभारी राजेन्द्र गहलोत की मौजूदगी में हुई। इसमें प्रभारी गुलाबचंद कटारिया उपस्थित नहीं हो पाए। जयपुर शहर के नेताओं में पूर्व मंत्री व मालवीय नगर विधायक कालीचरण सराफ, सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी, पूर्व मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, पूर्व विधायक व जयपुर शहर अध्यक्ष मोहनलाल गुप्ता सहित सुरेन्द्र पारीक व कैलाश मेघवाल आदि शामिल हुए।
————————————————————
पार्टी की नीति है कि बड़े जिलों को संगठनात्मक दृष्टि से दो हिस्सों में विभाजित किया जा सकता है। जयपुर को लेकर भी विचार किया जा सकता है।
- सतीश पूनिया, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा

Jagdish Vijayvergiya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned