अगर करना चाहते हैं रक्तदान तो जरूर जाने ये खास बातें

Blood Donation : रक्तदान के प्रति बढ रही Awareness का ही result है कि आज Every Year लाखों लोगों की जिंदगी को बचाया जाना संभव हो गया है। जानकारों की माने तो Urban Areas में Blood Donation के प्रति Awareness लगातार बढ़ रही है, जबकि अंधविश्वास और कई तरह की भ्रांतियों के चलते Rural Areas के लोग रक्तदान के प्रति ज्यादा रूची नहीं दिखाते हैं।

Blood Donation : जयपुर . रक्तदान के प्रति बढ रही जागरुकता ( ( Awareness ) ) का ही परिणाम ( Result ) है कि आज हर वर्ष ( Every Year ) लाखों लोगों की जिंदगी को बचाया जाना संभव हो गया है। जानकारों की माने तो शहरी क्षेत्रों ( Urban Areas ) में रक्तदान ( Blood Donation ) के प्रति जागरुकता ( Awareness ) लगातार बढ़ रही है, जबकि अंधविश्वास और कई तरह की भ्रांतियों के चलते ग्रामीण क्षेत्रों ( Rural Areas ) के लोग रक्तदान के प्रति ज्यादा रूची नहीं दिखाते हैं।

देश आज राष्ट्रीय रक्तदान दिवस मना रहा है। राजस्थान की बात करें तो राजस्थान में वर्ष 2018 में 8 लाख 19 हजार 169 लोगों ने रक्तदान किया, जबकि 13 लाख 46 हजार 515 लोगों को रक्त चढ़ाया गया। राजस्थान के अंदर सरकारी और निजी क्षेत्र में कुल 146 ब्लड बैंक कार्यरत हैं। जयपुर में इनकी संख्या 36 है।

राष्ट्रीय रक्तदान दिवस विशेष
- रक्तदान के प्रति बढ़ रही है जागरुकता
- गांवों की तुलना में शहरी क्षेत्र के लोग ज्यादा जागरुक
- वर्ष 2018 में 8 लाख 19 हजार 169 लोगों ने किया रक्तदान
- वर्ष 2018 में 13 लाख 46 हजार 515 लोगों को रक्त चढ़ाया


नियमित रक्तदान की आदत लोगों को हाई कॉलेस्ट्रोल, हार्ट प्रॉब्लम, हिमोग्लोबिन की कमी और मोटापा जैसी बीमारियों से बचा सकती है, इसके साथ ही रक्तदान से शरीर को आंतरिक रूप से भी स्वस्थ्य रखा जा सकता है, एक रक्तदाता चार लोगों की जिंदगियों को बचा सकता है, विशेषज्ञों के अनुसार नियमित ब्लड डोनेशन करना हैल्दी रहने का एक अच्छा तरीका भी माना जाता है। ब्लड डोनेशन के बाद एक माह में ही नया ब्लड बन जाता है। नियमित रक्तदान करने से यूरिक एसिड और कोलेस्ट्रोल की मात्रा पर नियंत्रण रहता है। शरीर के अंदर से पुराना रक्त निकल जाने से नए खून का संचार होने लगता है। साथ ही नई लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन होना शुरू हो जाता है।

रक्तदान के बाद बरतें ये सावधानियां
. अगले एक घंटे तक तेज धूप व गर्मी से बचें
. अगले एक घंटे तक धूम्रपान व तंबाकू का सेवन ना करें
. अगले 24 घंटे तक पर्याप्त पानी व अन्य पेय पदार्थों का भरपूर सेवन करें
. अगले 24 घंटे तक कठोर परिश्रम तथा कसरत से बचें
. रक्तदान के पश्चात तुरंत वाहन ना चलाएं

रक्त से आपकी जिंदगी तो चलती ही है साथ ही कई लोगों के जीवन को भी बचाया जा सकता हैण्ण्ण्। विश्व के इस सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में अभी भी बहुत से लोग यह समझते हैं कि रक्तदान से शरीर कमजोर हो जाता है और उस रक्त की भरपाई होने में महीने लग जाते हैं...। इतना ही नहीं यह गलत फहमी भी व्याप्त है कि नियमित रक्त देने से लोगों की रोग प्रतिकारक क्षमता कम होती है और उसे बीमारियां जल्दी जकड़ लेती हैंण्ण्ण्। ऐसे में हम सभी का यह दायित्व बनता है कि रक्तदान के प्रति लोगों को लगातार जागरुक करते रहें।

Show More
Anil Chauchan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned