scriptBlown the blow, gave medicine and then tried to have a forcible relati | झडा फूंका, दवाई दी और फिर जबरन संबंध बनाने की कोशिश की | Patrika News

झडा फूंका, दवाई दी और फिर जबरन संबंध बनाने की कोशिश की

एलजीबीटी कन्वर्जन थेरेपी कई देशों में बैन है। मेडिकल काउंसिल भी भारत में इसके बैन होने का दावा करती है। बावजूद इसके देश भर में इसका अघोषित तौर पर प्रयोग हो रहा है। पूरे देश में कथित डॉक्टर, मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ, धार्मिक गुरु कन्वर्जन थैरेपी के उपयोग के नाम पर एलजीबीटी समुदाय को प्रताडित कर रहे हैं। कई बार परिवार वाले तो कई बार समाज एलजीबीटी समुदाय के लोगों पर दबाव बनाकर उन्हें कन्वर्जन थेरेपी के लिए ले जाते हैं।

जयपुर

Published: July 01, 2022 08:55:41 pm

एलजीबीटी कन्वर्जन थेरेपी कई देशों में बैन है। मेडिकल काउंसिल भी भारत में इसके बैन होने का दावा करती है। बावजूद इसके देश भर में इसका अघोषित तौर पर प्रयोग हो रहा है। पूरे देश में कथित डॉक्टर, मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ, धार्मिक गुरु कन्वर्जन थैरेपी के उपयोग के नाम पर एलजीबीटी समुदाय को प्रताडित कर रहे हैं। कई बार परिवार वाले तो कई बार समाज एलजीबीटी समुदाय के लोगों पर दबाव बनाकर उन्हें कन्वर्जन थेरेपी के लिए ले जाते हैं।

lgbt_1.jpg

दिल्ली की 22 साल की कार्तिका जो अब कार्तिक वत्स बन गई हैं, वो भी इसका शिकार हैं। कार्तिक खुद को ट्रांसजेंडर मानते हैं। वे कहते हैं कि मुझे दवाइयां दीं। बाबाओं ने झाड़-फूंक की। कमरे में बंद करके जबरन रिश्ते बनाने की कोशिश की गई। वजह सिर्फ इतनी थी कि घर वाले चाहते थे कि मैं किसी पुरुष के प्रति आकर्षित रहूं।

क्या है कन्वर्जन थेरेपी
'कन्वर्जन थेरेपी' ऐसे ‘इलाज’ या 'मनोवैज्ञानिक इलाज' को कहते हैं जिसमें किसी को एलजीबीटी होने से रोकने या दबाने की जबरन कोशिश की जाती है। जो कि वैज्ञानिक रूप से पूरी तरह नामुमकिन है। इसमें कई खतरनाक उपाय हैं, जैसे-इलेक्ट्रिक शॉक देना, दवाइयां देना, भूखे रखना, बाबाओं से झाड़-फूंक, शारीरिक व मानसिक हिंसा, जबरन शारीरिक संबंध आदि।

‘कई बार मरने की कोशिश की’
रानी (बदला हुआ नाम) के घर वालों ने डॉक्टरों से लेकर ओझाओं के चक्कर लगाए। रानी कहती हैं, इससे मुझे खुद से ही घृणा होने लगी। कई बार आत्महत्या की कोशिश की, लेकिन बच गई। उसके बाद मेरी और मेरे घर वालों की काउंसलिंग हुई, जिसके बाद मेरे घर वालों ने मुझे वैसा ही स्वीकार लिया, जैसी मैं हूं।


तमिलनाडू में प्रतिबंध
ब्राजील, न्यूजीलैंड, जर्मनी, अर्जेंटीना, ताइवान जैसे देशों में कन्वर्जन थेरेपी पर बैन है। भारत में तमिलनाडु इकलौता ऐसा राज्य है, जहां इस पर पूरी तरह प्रतिबंध है। राष्ट्रीय चिकित्सा परिषद भी इसे देश में प्रतिबंधित बता चुकी है। फैमिली एक्सपर्ट्स की रिपोर्ट के मुताबिक एलजीबीटी समुदाय में सुसाइड रेट उन लोगों में तिगुनी हो जाती है, जो कन्वर्जन थेरेपी का शिकार हुए हैं। डिप्रेशन के मामले भी तिगुने हैं। कई की पढ़ाई छूट जाती है और प्रताड़ित होते हैं।

ये अलग हैं, पर इन्हें गलत कहना बंद करें
थैरेपी पूरी तरह से गलत है। मेरे पास ऐसी परेशानी झेले 2 से 3 मामले हर महीने आते हैं। इनमें से ज्यादातर खुद को चोट पहुंचा चुके होते हैं या फिर कोशिश में रहते हैं। इनकी स्वीकार्यता बढ़ानी होगी। उन्हें केयर की जरूरत है। यह लोग अलग हैं, लेकिन इन्हें गलत कहना पूरी तरह से बंद कीजिए। -सत्यकांत त्रिवेदी, वरिष्ठ मनोचिकित्सक

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार मुख्यमंत्री और तेजश्वी यादव डिप्टी सीएम पद की कल दोपहर 2 बजे लेंगे शपथनीतीश ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, कहा- हमें 164 विधायकों का समर्थनरवि शंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से पूछा बीजेपी के साथ क्यों आए थे? पीएम मोदी के नाम पर आपको जीत मिली, ये कैसा अपमान?पश्चिम बंगाल के बीरभूम में दर्दनाक हादसा, ऑटोरिक्शा और बस की टक्कर में 9 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजाना23 बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन सेरेना विलियम्स ने अचानक किया रिटायरमेंट का ऐलान, फैंस हुए भावुकMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपBihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.