राजस्थान: सवारियों से भरी नाव डूबने की घटना ने झकझोरा, जानें क्या बोले गहलोत-मिश्र-राजे-पूनिया

कोटा जिले के खातौली थाना क्षेत्र में बुधवार सुबह चम्बल नदी में एक नाव पलटने की दर्दनाक घटना में 14 लोगों के डूबने की खबर है। नाव में करीब 50 व्यक्तियों सहित कुछ दुपहिया वाहन भी थे।

By: nakul

Published: 16 Sep 2020, 03:11 PM IST

जयपुर/ कोटा।

कोटा जिले के खातौली थाना क्षेत्र में बुधवार सुबह चम्बल नदी में एक नाव पलटने की दर्दनाक घटना में 14 लोगों के डूबने की खबर है। नाव में करीब 50 व्यक्तियों सहित कुछ दुपहिया वाहन भी थे। जानकारी के अनुसार खातौली के चम्बल ढीबरी गांव से कुछ दर्शनार्थी नाव से नदी पार कर बूंदी जिले में स्थित कमलेश्वर महादेव मंदिर जा रहे थे।

माना जा रहा है कि नाव पर क्षमता से अधिक वजन हो जाने से नाव का संतुलन बिगडऩे से यह हादसा हो गया। हादसे के बाद करीब 30 से 35 व्यक्ति स्वयं तथा ग्रामीणों की मदद से सुरक्षित निकल गये जबकि करीब दस व्यक्ति अब भी लापता बताये जा रहे हैं जिनकी तलाश की जा रही है।

इधर, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना पर दुख जताते हुए आलाधिकारियों को लापता व्यक्तियों को जल्द तलाश करने के निर्देश दिये हैं। ट्वीट प्रतिक्रिया जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कोटा में थाना खातोली क्षेत्र में चम्बल ढिबरी के पास नाव पलट जाने की घटना बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। हादसे का शिकार हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं।’

सीएम गहलोत ने कहा है कि कोटा प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली है। तत्परता से राहत एवं बचाव के साथ ही लापता लोगों को शीघ्र ढूंढने के निर्देश दिए हैं। स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद है। प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मदद के लिए निर्देश दिए हैं।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने बयान जारी कर कहा, ‘राजस्थान में चम्बल नदी में नाव पलटने की दुर्घटना का अप्रिय समाचार मिला। ईश्वर की कृपा से ज्यादातर लोग सही सलामत बच गए। परन्तु दुर्भाग्यवश कुछ लोगों की इसमे मृत्यु हो हई और कुछ लापता हैं। मिश्र ने लापता लोगों के सकुशल वापसी की कामना की।

तत्काल आर्थिक मदद करे सरकार: वसुंधरा राजे

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने घटना पर दुःख जताते हुए कहा, ‘कोटा के इटावा में चंबल नदी में नाव पलटने की घटना हृदय विदारक है। राज्य सरकार से आग्रह है पीड़ितों को तत्काल आर्थिक एवं सामाजिक मदद पहुंचाए। ईश्वर दिवंगतों की आत्मा को शांति व परिजनों को धैर्य प्रदान करें।‘

सरकार-प्रशासन संज्ञान लें: बेनीवाल

सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा, ‘मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोटा के इटावा में चंबल नदी में नाव डूबने के समाचार प्राप्त हुए जिसमे कई लोग सवार थे। तत्काल रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाए। स्थानीय प्रशासन भी संज्ञान लें।‘

पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा, ‘कोटा चंबल नदी में नाव पलटने से तीर्थ यात्रियों के डूबने की खबर अत्यंत ही दुःखद है। ईश्वर दिवंगत आत्माओ को शांति व परिजनों को संबल प्रदान करें। मुख्यमंत्री से इस दुर्घटना की जांच की मांग करता हूं। नावों में उसकी क्षमता से अधिक यात्रियों की सवारी पर रोक लगाई जाए।‘

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने चंबल नदी में नाव डूबने के हादसे को अत्यंत दुखदायी बताया। मृतकों को श्रद्धांजलि देने के साथ ही उन्होंने घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। उन्होंने ऐसी घंत्नायें भविष्य में ना हों इसके लिए राज्य सरकार से कार्ययोजना बनाने की अपील की।

उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि कोटा की घटना हृदय विदारक और विचलित करने वाली है। रत्जौद ने भी मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए घायलों के स्वास्थ्य लाभ मिलने की कामना की।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned