इन वीरांगनाओं पर भी बनें सटीक फिल्में तो सामने आएगा राजस्थान का गौरवशाली इतिहास

Dinesh Saini

Updated: 16 Nov 2017, 04:31:47 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
1/5

जयपुर। सैकड़ों वर्षों तक हिन्दू राजाओं को एक ओर जहां विदेशी और मुस्लिम आक्रांताओं से लडऩा पड़ा, वहीं उन्हें अपने पड़ोसी राजाओं से मिल रही चुनौती का भी सामना करना पड़ा। ऐसे में कई राजाओं सहित कई रानियों को भी बलिदान देना पड़ा था। ऐसे कई मौके आए, जब राज्य की बागडोर रानियों को भी संभालनी पड़ी और उन्होंने निसंकोच होकर अपनी जान भी न्योछावर कर दी। राजस्थान की रानियां इसमें कभी पीछे नहीं रही और अपने साहसी पराक्रम से दुश्मनों को मुंह तोड़ जवाब दिया। अगर इन वीरांगनाओं पर भी सही साक्ष्यों को लेकर फिल्में बनाई जाए तो राजस्थान का गौरवशाली इतिहास सामने आएगा। आइए जानते हैं राजस्थान की ऐसी ही साहसी रानियों के बारे में जिन्होंने दुश्मनों से अपने राज्य और आत्म सम्मान को बचाने के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया।महारानी पद्मिनी: चित्तौड़ की महारानी पद्मनी (पद्मावती) के बारे में लगभग सभी लोग जानते हैं। उन पर तो अब फिल्म ‘पद्मावती‘ भी रीलिज होने वाली है। जिसका राजपूतों द्वारा जमकर विरोध किया जा रहा है। रानी पद्मिनी राजा गंधर्व सेन और रानी चंपावती की पुत्री थीं। पद्मिनी का विवाह चित्तौड़ के राजा रतन सिंह के साथ हुआ था। रानी पद्मिनी की सुंदरता पर तो दिल्ली का सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी भी इतना मोहित हो गया कि रानी को हासिल करने के लिए चित्तौड़ पर आक्रमण कर दिया और धोखे से राजा रतन सिंह को मार दिया। ऐसे में रानी पद्मिनी ने राजपूत वीरांगनाओं के साथ जौहर की अग्नि में जीवन समाप्त कर लिया, लेकिन अपने आत्म सम्मान में दाग नहीं लगने दिया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned