शटर तोड़ छह लाख की चोरी

शटर तोड़ छह लाख की चोरी

Abhishek Sharma | Publish: Feb, 02 2016 11:43:00 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

कस्बे के पालिका पार्क के सामने मंगलवार तड़़के पांच बजे मुख्य मार्ग पर स्थित एक मोबाइल की दुकान का शटर तोड़कर चोर पांच लाख रुपए के महंगे मोबाइल व  एक लाख रुपए नकद चुरा ले गए।

कस्बे के पालिका पार्क के सामने मंगलवार तड़़के पांच बजे मुख्य मार्ग पर स्थित एक मोबाइल की दुकान का शटर तोड़कर चोर पांच लाख रुपए के महंगे मोबाइल व  एक लाख रुपए नकद चुरा ले गए। इस बीच मुख्य मार्ग के अलावा पार्क में लोगों की आवाजाही होने के बावजूद चोरों ने वारदात को अंजाम दिया इससे व्यापारियों में रोष है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार मोरीजावाला टेलीकॉम के मालिक गोपाल अग्रवाल ने रिपोर्ट में बताया कि वह सोमवार की रात दुकान बंद कर घर गया था। सुबह करीब 5.15 बजे दुकान के समीप ठेला लगाने वाले एक व्यक्ति ने दुकान का शटर टूटने की सूचना दी। इस पर वह दुकान पहुंचा तो शटर टूटा मिला। दुकान के अंदर रखे मोबाइल फोन संभाले तो विभिन्न कम्पनियों के एण्ड्रायड व दूसरे करीब 5 लाख रुपए के महंगे मोबाइल फोन तथा गल्ले में रखे एक लाख रुपए भी गायब थे।
चौकीदार को धमकाया
रात को बाजार में दो जने चौकीदारी करते हैं। इनमें से एक करीब 4.30 बजे कमरे पर सोने के लिए चला गया। वारदात के समय चौकीदार का सहायक मोबाइल दुकान के समीप पहुंचा तो दुकान के बाहर खड़े कुछ लोगों ने उसे धमकाकर भगा दिया। लोगों के धमकाने पर वह घबरा गया। उसने वहां शोर करने के बजाय अपने वरिष्ठ साथी को कमरे में जाकर इसकी जानकारी दी।  दोनों मौके पर पहुंचे, तब तक चोर मोबाइल फोन समेटकर जा चुके थे। चौकीदार के थाने में जानकारी देने पर थाना प्रभारी रविन्द्र प्रताप सिंह व उप निरीक्षक राजेश शर्मा आदि मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया।
5 मिनट में वारदात को दिया अंजाम
दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से यह स्पष्ट हो रहा है कि तीन युवक तड़के 4 बजकर 51  मिनट पर दुकान के अन्दर घुसे। इनमें से एक जैकेट पहने हुए और दूसरे ने चश्मा लगाया हुआ है। मोबाइल टॉर्च की रोशनी में इन्होंने साथ लाए कट्टे में मोबाइन फोन भरना शुरू किया और पांच मिनट में मोबाइल फोन व नकदी समेटकर 4 बजकर 56 मिनट पर दुकान से बाहर हो गए। इन तीन युवकों की उम्र 25 से 26 वर्ष के बीच नजर आ रही है और तीनों क्षेत्र के ही दिखाईदे रहे हैं।
वारदात से पहले की रैकी
चोरों ने वारदात से पहले रैकी है। उन्हें दुकान के अन्दर रखे मोबाइल फोन के स्थान के बारे में पूरी जानकारी थी। उन्हें यह भी पता था कि पुलिस की गश्त रात को करीब 4 बजे समाप्त हो जाती है और चौकीदार भी 4.30 बजे तक चले जाते हैं। इसके बाद ही उन्होंने वारदात को अंजाम दिया है। मजे की बात यह कि 4.30 बजे के बाद से ही लोगों को पार्क में आना शुरू हो जाता है। कई लोग मुख्य मार्ग पर टहलते हैं, लेकिन किसी की नजर पर चोरों पर नहीं पड़ी।
शटर तोडऩे को लेकर संशय
दुकान के शटर को किसी वाहन से खींच कर तोड़ा गया है या रॉड से ऊपर उठा गया है इसको लेकर पुलिस को भी संशय है। पुलिस को मौके पर किसी तरह के निशान नहीं मिलने से रॉड से उठाने की पुष्टि नहीं हो रही है। इससे लगता है कि चोर किसी वाहन की सहायता से भी शटर को तोड़ सकते हैं। दुकान के बाहर सीसीटीवी नहीं होने से यह स्पष्ट नहीं हो पा रही कि चोरों ने शटर को किस तरह उठाया या अंदर किस तरह घुसे।
दो युवक कर रहे थे निगरानी
वारदात के दौरान तीन युवक जहां अन्दर माल समेट रहे थे, वहीं दो युवक बाहर निगरानी कर रहे थे। चौकीदार के सहायक के आने पर इन दो युवकों ने ही उसे धमकाकर भगाया था। चौकीदार के अनुसार दुकान के समीप एक लाल रंग की कार खड़ी थी। पुलिस के अनुसार चोर इसी कार से चोरी का माल लेकर फरार हुए हैं। फुटेज में दिखाई दे रहा है कि वारदात के दौरान बाहर कुछ आहट होने पर चोर कुछ देर के लिए रुके है और बिना थैले के ही तीनों दुकान से बाहर निकले हैं। इसके बाद जैकेट वाला चेार अकेला दुकान के अन्दर आता है और मोबाइल फोन से भरा कट्टा बाहर ले जाता है।
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने आरोपितों की पहचान शुरू कर दी है। पुलिस की एक टीम बहरोड़ व दूसरी बानसूर भेजी गई है। पुलिस इससे पहले के भी फुटेज खंगाल रही है। वारदात को देखते हुए पुलिस की गश्त का समय भी बढ़ाया गया है।
रविन्द्र प्रताप सिंह, थाना प्रभारी कोटपूतली                

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned