scriptBribery scandal in cooperative department: Two lakh more plots demand | सहकारिता विभाग में घूसकांड: रिश्वत में मांगे दो लाख और प्लॉट | Patrika News

सहकारिता विभाग में घूसकांड: रिश्वत में मांगे दो लाख और प्लॉट

सहकारिता विभाग में गृह निर्माण सहकारी समितियों से जुड़े भ्रष्टाचार के मामले में एसीबी ने एफआइआर दर्ज कर ली है। यह एफआइआर तत्कालीन उप रजिस्ट्रार (जयपुर) अनिल मित्तल और निरीक्षक अमित जैन के खिलाफ दर्ज की गई है। मामले में दो निरीक्षकों की भूमिका अब तफ्तीश के बाद तय होगी। दर्ज एफआइआर की तफ्तीश अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र नैन को दी गई है।

जयपुर

Published: May 13, 2022 12:29:53 pm

जयपुर. सहकारिता विभाग में गृह निर्माण सहकारी समितियों से जुड़े भ्रष्टाचार के मामले में एसीबी ने एफआइआर दर्ज कर ली है। यह एफआइआर तत्कालीन उप रजिस्ट्रार (जयपुर) अनिल मित्तल और निरीक्षक अमित जैन के खिलाफ दर्ज की गई है। मामले में दो निरीक्षकों की भूमिका अब तफ्तीश के बाद तय होगी। दर्ज एफआइआर की तफ्तीश अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र नैन को दी गई है।
bribe.jpg
भ्रष्टाचार का यह मामला खुद विभाग ने प्राथमिक जांच के साथ एसीबी को गत वर्ष भेजा था। इसके साथ ही वीडियो रिकॉर्डिंग भी भेजी गई थी, जिसमें परिवादी ने सहकारी विभाग के निरीक्षक को रिश्वत के रूप में पन्द्रह हजार रुपए देते हुए कैमरे में कैद किया था। एसीबी ने पहले परिवादी शंकरलाल की ओर से पेश सीडी को पड़ताल के लिए एफएसएल भेजा। एफएसएल ने रिपोर्ट में बताया कि रिकॉर्डिंग में काट-छांट नहीं की गई है। इसके बाद एसीबी ने जांच आगे बढ़ाई।
रिश्वत में मांगे थे दो लाख और प्लॉट

रिश्वत मांगी गई तो शंकर लाल ने निरीक्षक अमित जैन को अपने घर बुला लिया। वहां उसने पूरा वाकया रिकॉर्ड कर लिया। इसमें अमित जैन पन्द्रह हजार रुपए लेते दिख रहा है। यहां तक कहा कि साहब दो लाख रुपए में नहीं मानेंगे तो ये पन्द्रह हजार लौटा दूंगा। जैन को बाद में इस केस से हटा दिया गया। परिवाद में दो और निरीक्षकों का नाम है, जिनकी भूमिका अब एफआइआर की पड़ताल में तय होगी।
रिश्वत की रिकार्डिंग भी
परिवादी ने एसीबी को बताया कि सीडी में नए निरीक्षक ओ.पी.यादव की बातचीत भी रिकॉर्ड है। हालांकि यादव ने शंकर लाल के खिलाफ फैसला जारी किया। पड़ताल के आधार पर एसीबी ने उप रजिस्ट्रार अनिल मित्तल और निरीक्षक अमित जैन के खिलाफ रिश्वत मांगने की धारा में मामला दर्ज किया है।
यह था मामला

जांच में सामने आया कि शिप्रापथ थाना क्षेत्र में चार प्लॉट पर विवाद था। इसी मामले में पुलिस ने चारों प्लॉट पर सीआरपीसी की धारा 145 के तहत रिसीवर के लिए अदालत में इस्तगासा पेश किया था। भूखंडों से जुड़े पक्ष अमित सोगानी, शंकर व नितिन मिश्रा ने उप-रजिस्ट्रार के यहां परिवाद पेश किया। आरोप था कि परिवादी के पक्ष में फैसला देने के लिए दो लाख रुपए व प्लॉट की भी मांग की।
विभाग ने ही मामला प्राथमिक जांच के साथ भेजा था। प्रथम दृष्टया आरोप सही पाए जाने पर एफआइआर दर्ज करने का निर्णय लिया गया है। - बी.एल. सोनी, डीजी एसीबी

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी राजस्थान पत्रिका में राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.