अंग्रेजों के जमाने के कानून बदले जाएं : बिरला

अंग्रेजों के जमाने के कानून बदले जाएं : बिरला

Amit Kumar Garg | Publish: Jul, 26 2019 03:45:35 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

लोकसभा में एक बिल पर चर्चा के दौरान लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने एक अहम टिप्पणी करते हुए कहा कि संसद ब्रिटिश काल के कानूनों को बदलने का प्रयास करे।

नई दिल्ली। लोकसभा में एक बिल पर चर्चा के दौरान लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने एक अहम टिप्पणी करते हुए कहा कि संसद ब्रिटिश काल के कानूनों को बदलने का प्रयास करे। रिपीलिंग एंड अमेडिंग बिल, 2019 को पेश किए जाने के दौरान स्पीकर ने कहा कि लोकसभा के सभी सांसद पुराने और अप्रचलित कानूनों को बदलने पर विचार करें। पश्चिम बंगाल के सेरामपोर से तृणमूल कांग्रेस सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा कि ब्रिटिश काल से पहले के कानूनों की बजाय सरकार को अंग्रेजों के द्वारा बनाए गए कानूनों को बदलने की कोशिश करनी चाहिए, जैसे कि भारतीय दंड संहिता। बनर्जी ने कहा कि कई बदलाव हुए हैं, इसलिए नए कानून बनाने की जरूरत है। इस पर बिरला ने कहा कि संसद को ब्रिटिश जमाने के कानून को नए कानून बनाकर खत्म करना चाहिए।
स्पीकर लोकसभा के कार्यवाही में कई तरह के बदलाव कर रहे हैं। स्पीकर ने इस निचले सदन में अनुशासन पर कई बार चर्चा की है। मौजूदा अध्यक्ष ने यह भी कोशिश की है कि लोकसभा का समय कम जाया हो। बिरला जब से लोकसभा के स्पीकर बने हैं, तब से सदन की कार्यवाही बहुत ही कम प्रभावित हुई है। इस दौरान लोकसभा में हंगामों और उसकी वजह से कार्यवाही के स्थगित होने में कमी आई है। बिरला ने यह भी सुनिश्चित किया है कि वह ज्यादा से ज्यादा समय तक सदन की अध्यक्षता करें, न कि उपाध्यक्ष या अन्य वरिष्ठ सांसदों के लिए यह जिम्मेदारी छोड़ें। बिरला सदन की कार्यवाही के संचालन में हिंदी का भी प्रमुखता से इस्तेमाल करते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned