scriptBSF is quenching the thirst of barren, hope of greenery in the desert | बीएसएफ बुझा रही बंजर की प्यास, रेगिस्तान में हरियाली की आस | Patrika News

बीएसएफ बुझा रही बंजर की प्यास, रेगिस्तान में हरियाली की आस

सीमा सुरक्षा बल के क्षेत्रीय मुख्यालय के पूर्वी छोर पर डेढ़ साल पहले बंजर भूमि पर झाड़-झंखाड़ ही नजर आते थे। आज इस 44 एकड़ एरिया में हरियाली की चादर बिछ चुकी है। भीषण गर्मी में इतने बड़े भू-भाग पर हरी-भरी घास का होना किसी अजूबे से कम नहीं लगता।

जयपुर

Published: May 23, 2022 10:29:12 pm

सीमा सुरक्षा बल के क्षेत्रीय मुख्यालय के पूर्वी छोर पर डेढ़ साल पहले बंजर भूमि पर झाड़-झंखाड़ ही नजर आते थे। आज इस 44 एकड़ एरिया में हरियाली की चादर बिछ चुकी है। भीषण गर्मी में इतने बड़े भू-भाग पर हरी-भरी घास का होना किसी अजूबे से कम नहीं लगता। यह कायाकल्प हुआ है बीएसएफ के जवानों के बहाए पसीने और डीआइजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ के कुछ नया कर गुजरने के जुनून से। यह प्रदेश का बीएसएफ कैम्पस में सबसे शानदार गोल्फ कोर्स बन गया है। देश के लिए प्राणों को न्यौछावर करने वाले जांबाजों और स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर बने इसके गोल नई पीढ़ी को प्रेरणा दे रहे हैं।
bsf-recruitment-2021-notification-for-group-c-posts-at-rectt-bsf-gov.jpg
दो साल पहले इंटरनेशनल गोल्फर पुष्पेन्द्र सिंह राठौड़ बीकानेर बीएसएफ डीआइजी के रूप में पदस्थापित हुए। डीआइजी राठौड़ बताते हैं कि उन्होंने यहां कैम्पस में फायरिंग रेंज के पास 50 एकड़ एरिया में झाड़ियां देखीं तो इसकी साफ-सफाई कर हरा-भरा बनाने का विचार आया। इसके बाद जवानों की मदद से काम शुरू कर दिया। गंदे पानी को एसटीपी के माध्यम से शोधित कर उपयोग लिया गया।

रणबांकुरों को समर्पित गोल

बीएसएफ के अधिकारी दीपेन्द्र सिंह शेखावत गोल्फ कोर्स में लगे रणबांकुरों के 5 शिलालेखों को दिखाते हुए कहते हैं कि प्रत्येक शिलालेख 1971 के युद्ध के जांबाजों की स्मृति में गोल्फ के गोल के नामकरण का है। इनमें बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट चन्द्रसिंह चंदेल, डिप्टी कमांडेंट इन्द्रजीत उप्पल, हवलदार महेन्द्र सिंह, असिस्टेंट कमांडेंट रामकिशन वधवा, आर्मी के शहीद मेजर पूर्ण सिंह के शिलालेख शामिल हैं। शेष पांच गोल का नामकरण स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर है।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट जल्द खत्म होने के आसार कम! सदस्यता को लेकर बागी विधायक कर सकते है कोर्ट का रुखMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने बागी विधायकों पर फिर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बड़ी बातMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीBy-Elections 2022: तीन लोकसभा और सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे आजमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाहMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी अस्पताल से हुए डिस्चार्ज, कोविड के कारण थे एडमिटपंजाब: भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार IAS के बेटे ने खुद को गोली मारी, अधिकारी की पत्नी ने विजिलेंस टीम पर लगाया हत्या का आरोपMann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम को करेंगे संबोधित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.