scriptbvg news jaipur heritage and greater JMC Strike | टर्मिनेशन लैटर में आयुक्त ने लिखा...आपका ध्यान 'सफाई' करने के बजाय 'सफाई' देने में केंद्रित रहा | Patrika News

टर्मिनेशन लैटर में आयुक्त ने लिखा...आपका ध्यान 'सफाई' करने के बजाय 'सफाई' देने में केंद्रित रहा

कभी हूपर समय पर नहीं आए। लोग गाड़ियों का इंतजार करते रहे। कई नोटिस दिए गए, लेकिन किसी का कम्पनी की ओर से सही तरह से जवाब पेश नहीं किया गया। आए दिन हड़ताल से परेशान होकर हैरिटेज निगम ने अपने स्तर पर कचरा उठाना शुरू कर दिया हैं.

जयपुर

Published: December 25, 2021 03:19:53 pm

जयपुर। बीवीजी कम्पनी को हैरिटेज नगर निगम से विदा कर दिया गया। हालांकि, जो पत्र आयुक्त अवधेश मीणा की ओर से कम्पनी के आला अधिकारियों को लिखा गया है, उसमें उन्होंने अनुबंध की शर्तों के उल्लंघन के बारे में बताया। साथ ही यह भी लिखा कि कम्पनी का ध्यान सफाई करने की बजाय सफाई देने पर रहा। इसी वजह से हमें सख्त कदम उठाने पड़े।
सेवा समाप्ति आदेश में आयुक्त ने लिखा कि करीब 300 वर्ष पुराना शहर स्थापत्य और नगरीय नियोजन के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। शहरवासी हमसे सफाई की अपेक्षा रखते हैं। शहर की चाहत को साकार करने के लिए आपको काम दिया गया था। इसके ठीक विपरीत बीवीजी ने सफाई करने के बजाय सफाई देने में ध्यान केंद्रित किया।
टर्मिनेशन लैटर में आयुक्त ने लिखा...आपका ध्यान 'सफाई' करने के बजाय 'सफाई' देने में केंद्रित रहा
टर्मिनेशन लैटर में आयुक्त ने लिखा...आपका ध्यान 'सफाई' करने के बजाय 'सफाई' देने में केंद्रित रहा
स्वच्छता राजनीतिक स्वतंत्रता जैसी
आयुक्त अवधेश मीणा ने सेवा समाप्ति आदेश में कहा है कि मेरे मन में गांधी जी का पवित्र विचार सामने है, जिसमें उन्होंने स्वच्छता को राजनीतिक स्वतंत्रता के समकक्ष बताया था। देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। ऐसे में हम इस बात की अनुमति किसी संस्था, व्यक्ति या कम्पनी को नहीं दे सकते, जो हमारे राष्ट्रनिर्माताओं के देश को स्वच्छ रखने के पवित्र संकल्प के साथ खिलवाड़ करे।
सेवा समाप्ति में यह महत्वपूर्ण कारण
-कम्पनी लगातार निगम के नोटिसों की अवहेलना करती रही। शर्तों के अनुरूप काम नहीं किया।
-मुख्य बाजारों से लेकर होटल, रेस्टोरेंट, शैक्षणिक संस्थान, उद्यानों और मुख्य बाजारों में कचरा संग्रहण नहीं किया गया।
-कई क्षेत्रों में हूपर तीन से चार दिन बीत जाने के बाद भी नहीं पहुंचे।
-कम्पनी अनुबंध के 4.5 वर्ष बीत जाने के बाद भी कचरा अलग-अलग नहीं कर पाई।
-कचरा मशीन से मशीन में लेकर जाना था, लेकिन ओपन डिपो पर कचरा एकत्र किया जाता रहा।
-व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम को भी विकसित नहीं किया गया। प्रतिदिन की जानकारी निगम को नहीं मिली।
-परकोटा की 5400 गलियों की सफाई बीवीजी को करनी थी। कहने के बाद भी कम्पनी ने काम नहीं किया।
-त्योहारों पर निकलने वाले अतिरिक्त कचरे का कम्पनी की ओर से कोई व्यवस्था नहीं की गई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराहुल गांधी से लेकर गहलोत तक कांग्रेस के नेता देश के विपरीत भाषा बोलते हैं : पूनियांश्रीलंकाई नौसेना जहाज की भारतीय मछुआरों के नौका से टक्कर, सात मछुआरे बाल बाल बचेटीआई-लेडी कॉन्स्टेबल की लव स्टोरी से विभाग में हड़कंप, दो बच्चों का पिता है टीआई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.